लखनऊ, जेएनएन। तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के संक्रमण से अब उत्तर प्रदेश में और भयावह स्थिति होने लगी है। कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण रविवार सुबह योगी आदित्यनाथ सरकार में प्राविधिक शिक्षा मंत्री कमलरानी वरुण के निधन का निधन हो गया। शाम को सूचना आई कि उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी कोरोना वायरस से संक्रमित मिले हैं। उन्होंने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। इसी बीच यूपी सरकार के जल शक्ति मंत्री महेन्द्र सिंह की भी रिपोर्ट पॉजिटिव होने की सूचना मिली। महेन्द्र सिंह संजय गांधी पीजीआई में भर्ती हैं। योगी सरकार के अब तक सात मंत्री कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इसके अलावा आइजी नवनीत सिकेरा सहित कुछ अफसर भी संक्रमित हो चुके हैं। राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 3,953 नए मामले मिले हैं। यह अभी तक मिले मरीजों की दूसरी सबसे बड़ी संख्या है। इससे पहले 31 जुलाई को सर्वाधिक 4,453 मरीज मिले थे। अब तक राज्य में कुल 93,709 मरीज मिल चुके हैं, जबकि 1,730 मरीज दम तोड़ चुके हैं।

यूपी भाजपा के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने रविवार शाम को ट्वीट कर कहा कि 'मुझे कोरोना के शुरुआती लक्षण दिख रहे थे, जिसके चलते मैंने अपनी कोविड-19 की जांच कराई। जांच में मेरी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। मुझसे संपर्क में आने वाले सभी लोगों से मेरा निवेदन है कि वे गाइडलाइन के अनुसार स्वयं को क्वारंटाइन कर लें और आवश्यकता अनुसार अपनी जांच करा लें। स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि डॉक्टर की सलाह पर मैं वर्तमान में अपने आवास पर होम क्वारंटाइन हूं। मेरा सभी प्रदेश्वासियों से निवेदन है कि पूरी सावधानी बरतें और सरकार की गाइडलाइन का सख्ती से पालन करें।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के अब तक सात मंत्री कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। इनमें जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह के अलावा स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, होमगार्ड मंत्री चेतन चौहान, ग्राम्य विकास मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह, आयुष राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धर्म सिंह सैनी व खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेंद्र तिवारी शामिल हैं। इनके अलावा श्रम एवं परामर्शदात्री समिति के अध्यक्ष ठाकुर रघुराज सिंह भी कोरोना संक्रमित हैं। हाल ही में आईजी नवनीत सिकेरा भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके अलावा कुछ अन्य अफसर भी कोरोना संक्रमित मिले हैं। फिलहाल इन सभी के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है।

उत्तर प्रदेश में जैसे-जैसे जांच में तेजी आई है, कोरोनो वायरस से संक्रमितों की संख्या भी बढ़ी है। यूपी में रविवार को रिकार्ड 1,14,822 नमूनों की जांच की गई तो इसमें से 3,953 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। यह अभी तक मिले मरीजों की दूसरी सबसे बड़ी संख्या है। इससे पहले 31 जुलाई को सर्वाधिक 4,453 मरीज मिले थे। वहीं अभी तक प्रदेश भर में 25,33,631 लोगों की कोरोना जांच की जा चुकी है। अब तक 53,357 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। बीते 24 घंटे में 53 लोगों की मौत हुई और अभी तक 1,730 मरीज दम तोड़ चुके हैं। अब एक्टिव केस 37,834 हैं। बीते 24 घंटे में जिन 53 लोगों की मौत हुई है उनमें लखनऊ के 14, कानपुर के 11, बरेली के पांच, वाराणसी व प्रयागराज के तीन-तीन, झांसी, मुरादाबाद व अयोध्या में दो-दो और आगरा, बलिया, बुलंदशहर, बाराबंकी, मथुरा, इटावा, मैनपुरी, फतेहपुर, जालौन, बदायूं और श्रावस्ती का एक-एक व्यक्ति शामिल है।

उत्तर प्रदेश में पूल टेस्ट के अन्तर्गत 3,460 पूल की जांच की गई। इसमें 3,175 पूल पांच-पांच सैम्पल के और 285 पूल 10-10 सैम्पल के थे। कोविड-19 के 38,023 मामले एक्टिव हैं। इनमें से 11,046 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। 1,255 मरीजों का प्राइवेट अस्पताल और 120 मरीजों का एल-1 सेमीपेड फैसल्टी में इलाज किया जा रहा है। शेष मरीजों को एल-1, एल-2 तथा एल-3 के कोविड डेडीकेटेड अस्पतालों में उपचार हो रहा है। अब तक 53,168 मरीजों का पूरी तरह से उपचार किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें : उत्तर प्रदेश में महीने भर में चार गुना बढ़ी कोरोना वायरस संक्रमण की रफ्तार

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस