लखनऊ, जेएनएन। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड कार्यकारिणी की अहम बैठक 12 अक्टूबर को लखनऊ में होने जा रही है। इसमें अयोध्या मसले की सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई व कॉमन सिविल कोड पर विस्तार से चर्चा व आगे की रणनीति तय की जाएगी। बैठक में लीगल कमेटी ट्रिपल तलाक कानून पर अपनी रिपोर्ट पेश करेगी।

मौलाना सैयद राबे हसनी नदवी की अध्यक्षता में होने वाली ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड कार्यकारिणी की बैठक में अयोध्या मसले पर विस्तार से चर्चा होगी। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मसले की सुनवाई अंतिम चरण में है। इसका निर्णय आने के बाद मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की क्या रणनीति रहेगी, इस पर भी कार्यकारिणी में चर्चा होगी।

बोर्ड के वरिष्ठ सदस्य मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने बताया कि तीन तलाक पर केंद्र सरकार ने कानून बनाया है। इसे पर्सनल लॉ बोर्ड ने अपनी लीगल कमेटी के पास भेजा था। इस पर कमेटी अपनी रिपोर्ट पेश करेगी। उन्होंने बताया कि आजकल कॉमन सिविल कोड की चर्चा हो रही है। इस पर भी कार्यकारिणी की बैठक में विस्तार से चर्चा होगी। उन्होंने बताया कि बैठक में अयोध्या मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में अभी तक हुए घटनाक्रम और आगे की संभावनाओं पर चर्चा होगी। साथ-साथ प्रकरण में अगले महीने फैसला आने की अटकलों और निर्णय आने के बाद संभावित सूरतेहाल पर रायशुमारी होगी।

यह भी पढ़ें : कोर्ट से बाहर अयोध्या मसले का हल चाहते हैं मुस्लिम बुद्धिजीवी

उन्होंने कहा कि बोर्ड का पहले भी कहना था कि तीन तलाक पर रोक लगाने वाला बताकर लागू किया गया कानून मुस्लिम वर्ग की राय जाने बगैर बनाया गया है, लिहाजा उसके दुष्परिणाम भी हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि कॉमन सिविल कोड की बातें फिर शुरू हो गई हैं। बैठक में इस पर बहस होने की उम्मीद है। वैसे बोर्ड तो हमेशा से ही इसके विरोध में रहा है, लेकिन यदि सरकार इस मामले पर आगे बढ़ती है, तो इस मसले पर भविष्य में अपनायी जाने वाली रणनीति पर भी चर्चा की जाएगी।

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप