लखनऊ, जेएनएन। देश की पहली कॉरपोरेट सेक्टर की टे्रन तेजस यात्रियों को लेट होने पर मुआवजा भी देगी। ट्रेन यदि एक घंटे से अधिक लेट हुई तो 100 रुपये और दो घंटे से अधिक लेट होने पर 250 रुपये मुआवजा भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आइआरसीटीसी) देगा। रेलवे बोर्ड ने मंगलवार को मुआवजे का आदेश भी जारी कर दिया। ऐसा पहली बार होगा जब रेलवे यात्रियों को ट्रेन के लेट होने पर मुआवजा देगा।

उधर, आइआरसीटीसी ने तेजस एक्सप्रेस चार अक्टूबर को चलाने से पहले मंगलवार को इसके रैक का अंतिम परीक्षण किया। लखनऊ जंक्शन पर रैक लाए गए। यहां आइआरसीटीसी के सीएमडी महेंद्र प्रताप मल्ल और मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक अश्विनी श्रीवास्तव की मौजूदगी में ट्रेन के एसी, सीसीटीवी, सेंसर, वेंडिंग सिस्टम, एनाउंसमेंट और मनोरंजन के सिस्टम की जांच की गई। तेजस ट्रेन के लिए टीटीई की नियुक्ति भी कर ली गई है। साथ ही उनको हैंड हेल्ड डिवाइस भी मुहैया करा दिए गए हैं। बता दें कि आइआरसीटीसी के यात्रियों का 25 लाख रुपये का बीमा भी होगा।

सामान चोरी होने पर भी मिलेगा मुआवजा

यात्रियों का सामान यदि बोगी में सफर के दौरान चोरी हो जाता है तो भी मुआवजा मिलेगा। हालांकि, आइआरसीटीसी ने ट्रेन में सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने के लिए भी जरूरी तैयारियां पूरी कर ली हैं। हर बोगी में लगे छह-छह सीसी कैमरे से निगरानी गार्ड और पॉवर जनरेटर कार में होगी।

यह भी पढ़ें : फ्री लजीज व्यंजन और उपहार के साथ होगा पहला सफर 

यह भी पढ़ें : आइंस्टीन ने महात्‍मा गांधी के बारे में जो ल‍िखा वह सच ही था, जान‍िए पूरी कहानी

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस