Move to Jagran APP

UP News: तुलसियानी समूह की बेनामी संपत्तियों पर ईडी की नजर, निवेशकों व बैंक की रकम हड़पने का मामला

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) निवेशकों व पंजाब नेशनल बैंक की रकम हड़पे जाने के मामले में तुलसियानी कंस्ट्रक्शन एंड डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के संचालकाें की बेनामी संपत्तियों की पड़ताल भी कर रहा है। निवेशकों की रकम को अन्य सहयोगी कंपनियों के खातों में डायवर्ट कर बेनामी संपत्तियां ली गई थीं। ईडी इन संपत्तियों को जब्त करने की तैयारी में है।

By Alok Mishra Edited By: Abhishek Pandey Published: Tue, 11 Jun 2024 04:38 PM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 04:38 PM (IST)
तुलसियानी समूह की बेनामी संपत्तियों पर ईडी की नजर

राज्य ब्यूरो, लखनऊ। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) निवेशकों व पंजाब नेशनल बैंक की रकम हड़पे जाने के मामले में तुलसियानी कंस्ट्रक्शन एंड डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के संचालकाें की बेनामी संपत्तियों की पड़ताल भी कर रहा है। निवेशकों की रकम को अन्य सहयोगी कंपनियों के खातों में डायवर्ट कर बेनामी संपत्तियां ली गई थीं।

सूत्रों का कहना है कि ईडी ने तुलसियानी समूह के खातों की छानबीन के दौरान लखनऊ व प्रयागराज में खरीदी गईं तीन संपत्तियां चिन्हित की हैं, जिनकी कीमत लगभग चार करोड़ रुपये है। ईडी इन संपत्तियों को जब्त करने की तैयारी में है।

ईडी ने बीते दिनों ही तुलसियानी कंस्ट्रक्शन एंड डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड की 3.06 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की थी। कंपनी के नाम प्रयागराज में पांच भूखंड खरीदे गए थे। ईडी ने इससे पूर्व अप्रैल माह में तुलसियानी समूह के ठिकानों पर छापेमारी भी की थी। छानबीन में बैंक खातों से जुड़े कई दस्तावेज मिले थे। जिनकी पड़ताल में निवेशकों व बैंक की रकम को अन्य खातों में डायवर्ट किए जाने के साक्ष्य मिले थे। साथ ही कई सहयोगी कंपनियों के माध्यम से भी करोड़ों रुपये का निवेश किए जाने के तथ्य सामने आए थे।

निवेशकों ने रियल एस्टेट कारोबारी तुलसियानी समूह के निदेशक अनिल कुमार व महेश कुमार तुलसियानी के विरुद्ध लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली में धोखाधड़ी के मुकदमे दर्ज कराए थे। कंपनी संचालकों ने चार फ्लैट गिरवी रखकर पंजाब नेशनल बैंक से 4.63 करोड़ रुपये का लोन लिया था, जिसे वापस नहीं किया गया था। मामले में ईडी ने मनी लांड्रिंग का केस दर्ज कर जांच शुरू की थी।

जांच में निवेशकों की 30 करोड़ रुपये से अधिक रकम ठगे जाने की बात सामने आई थी। निवेशकों को लखनऊ में फ्लैट उपलब्ध कराने का झांसा दिया था। ईडी के अनुसार पुलिस ने अगस्त 2022 को आरोपित संचालक अनिल कुमार तुलसियानी को गिरफ्तार किया था। अक्टूबर 2023 में अनिल कुमार को हाई कोर्ट से जमानत हासिल हुई थी।

इसे भी पढ़ें: योगी कैबिनेट में बड़ा फैसला, खरीफ का लक्ष्य तय; सर्वाधिक 61.24 लाख हेक्टेयर में होगी धान की खेती


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.