लखनऊ। छत्तीसगढ़ राज्य से भटककर आए हाथियों के झुंड ने सोनभद्र के बभनी क्षेत्र के रंदह गांव में सोमवार की रात जमकर उत्पात मचाया। १२ से अधिक हाथियों के झुंड ने लोगों की घरों के बाहर बंधे पांच पालतू मवेशियों की जान ले ली और आठ लोगों के घरों को उजाडऩे के साथ ही ढहा दिया। इससे छत्तीसगढ़ सीमा से लगे जिले के गांवों में दहशत व्याप्त हो गई है। ग्रामीणों ने बताया कि सोमवार की रात जंगलों के रास्ते दर्जनभर से अधिक हाथियों का झुंड जिले की सीमा में प्रवेश किया। जो रात में जंगल से लगे रंदह गांव में पहुंच गए। इस दौरान कुछ लोग घरों को छोड़कर भागने लगे। हाथियों ने पहले गांव के राजाराम के दो बैलों व दो गायों की जान लेने के बाद झुंड रामलाल की घर की तरफ बड़ा। रामलाल के एक बैल को भी कुचलते हुए निकल गया। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। वहीं रामलाल की जमीन में लगे हैंडपंप को एक हाथी ने सूड़ से उखाड़ दिया। इसके साथ ही खलिहान में रखे धान की फसल को भी रौंद दिया।

मवेशियों के चिल्लाने पर निकले घरों से

हाथियों के उत्पात से मवेशियों के चिल्लाने की आवाज सुनकर लोग घरों के बाहर निकले तो हाथियों को देख उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। हाथियों के रास्ते जो भी मकान आए उसे भी गिराते, उजाड़ते निकल गए। हाथियों ने गांव के रामविचार, उदसिया, मोती लाल, देवराज, रामचंद्र, राजाराम, रामलाल के घरों को क्षत-विक्षत कर दिया। हाथियों के सीमा मे घुसने की खबर से आसपास के गांवों में दहशत व्याप्त है। थानाध्यक्ष अशोक सिंह यादव सूचना मिलते ही मंगलवार की सुबह रंदह गांव पहुंचे और क्षति का जायजा लिया। घटना की सूचना पर वन विभाग के अधिकारियों ने भी गांवों का दौरा किया और हाथियों के झुंड को जंगलों में खदेडऩे के लिए कर्मियों को भेजा। इसके साथ ही वन कर्मियों व अधिकारियों ने लोगों को आश्वस्त किया कि वे दहशत में न रहे हाथियों का झुंड निकल गया है।

Posted By: Nawal Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप