लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में फूलपुर स्थित इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (इफ्को) प्लांट में मंगलवार देर रात बड़ा हादसा हो गया। यूरिया यूनिट में अमोनिया गैस के लीकेज से दो अधिकारियों की मौत हो गई जबकि 15 कर्मचारियों की तबीयत बिगड़ गई, जिन्हें भर्ती कराया गया है। इस घटना पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख व्यक्त किया है। उन्होंने घटना की जांच के आदेश दिए हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार सुबह ट्वीट कर कहा कि 'प्रयागराज में फूलपुर स्थित इफ्को प्लांट में गैस रिसाव से हुई दुर्घटना से मन बेहद दुखी है। स्थानीय प्रशासन के प्रयासों से स्थिति पूर्णतः नियंत्रण में है। सभी घायलों का समुचित इलाज स्थानीय अस्पताल में किया जा रहा है। हादसे में दिवंगत हुए लोगों के परिजनों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं।

बता दें कि प्रयागराज स्थित फूलपुर इफ्को प्लांट में मंगलवार देर रात काम चल रहा था। उसी समय किसी कारण से एक पाइप लाइन में अमोनिया गैस का रिसीव हो गया। कुछ ही पल में गैस चारों तरफ फैली तो कर्मचारियों में अफरातफरी मच गई। भगदड़ में कई कर्मचारी प्लांट के भीतर गिर भी गए। गैस इतनी तेज फैली कि प्लांट के भीतर ही कई कर्मी अचेत हो गए। कर्मचारियों ने चिल्लाना शुरू किया तो प्लांट को बंद कर दिया।

इसके बाद राहत और बचाव का कार्य शुरू हुआ। प्लांट के भीतर से 15 कर्मचारियों को निकाला गया। इसमें से अधिकांश अचेत थे, जबकि कुछ तड़प रहे थे। आननफानन में सभी को इफ्को स्थित अस्पताल में ले जाया गया, जहां एसपी राम, राकेश कुमार, अभिनंदन और वीपी सिंह समेत आठ की हालत गंभीर देख शहर के दो निजी अस्पतालों में रेफर कर दिया गया। डाक्टरों ने असिस्टेंट मैनेजर बीपी सिंह और डिप्टी मैनेजर अभिनंदन को मृत घोषित कर दिया। 

यह भी पढ़ें :  प्रयागराज स्थित फूलपुर के इफ्को प्‍लांट में अमोनिया गैस का रिसाव, दो ने तोड़ा दम, दर्जनों की हालत बिगड़ी

यह भी पढ़ें : प्रयागराज इफ्को प्लांट में अमोनिया गैस रिसाव: दो साल में पांच बार लीकेज से खड़े हुए गंभीर सवाल

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप