प्रयागराज, जेएनएन। फूलपुर स्थित इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (इफको) प्लांट में मंगलवार देर रात बड़ा हादसा हो गया। यूरिया यूनिट में अमोनिया गैस के लीकेज से दो अधिकारियों की मौत हो गई जबकि 15 कर्मचारियों की तबीयत बिगड़ गई, जिन्हें भर्ती कराया गया है। हादसे के वक्त  प्लांट में 100 से अधिक कर्मचारी काम कर रहे थे। प्लांट में यह पहला हादसा नहीं हैं, पिछले दो सालों में पांच बाद गैस रिसाव की घटना हो चुकी है। बार-बार हो रहे लीकेज से कंपनी की कार्य प्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं।

इंस्पेक्टर फूलपुर राजकिशोर ने बताया कि अमोनिया गैस की किसी पाइप लाइन में रिसाव हो गया था, जिस कारण 15 कर्मचारी चपेट में आ गए। इसमें से दो की मौत हो गई है। यहां लीकेज की यह पहली घटना नहीं है। पिछले दो सालों में यहां पांच बार रिसाव हो चुका है। बार-बार चूक, बड़ी लापरवाही बनती जा रही है। इससे यहां किसी भी वक्त और बड़ा हादसा भी हो सकता है। इससे पहले 25 जनवरी, 2019 को तीन मजदूर और अप्रैल, 2019 में 12 लोगों की हालत बिगड़ी थी।

बता दें कि फूलपुर इफ्को प्लांट में मंगलवार देर रात अचानक अमोनिया गैस का रिसाव हो गया। गैस के रिसाव से कर्मचारियों में अफरातफरी मच गई। कई कर्मचारी वहीं अचेत होकर गिर पड़े। उस समय प्लांट में 100 से अधिक कर्मचारी काम कर रहे थे। सूचना पाकर इफ्को के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ ही पुलिस-प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे। किसी प्रकार प्लांट में फंसे कर्मचारियों को बाहर निकाला गया। इसमें 15 कर्मचारी अचेत थे। सभी को इफ्को स्थित अस्पताल ले जाया गया, जहां आठ की हालत नाजुक देख डॉक्टरों ने उन्हें शहर के दो निजी अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। जहां डॉक्टरों ने असिस्टेंट मैनेजर बीपी सिंह और डिप्टी मैनेजर अभिनंदन को मृत घोषित कर दिया। 

सीएम योगी ने घटना की जांच के दिए आदेश : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फूलपुर इफको प्लांट में गैस रिसाव की घटना पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने घटना की जांच के आदेश दिए हैं। इफ्को प्लांट के जनसंपर्क अधिकारी विश्वजीत श्रीवास्तव ने बताया कि यह हादसा एक यूरिया प्रोसेसिंग यूनिट में हुआ। एक अमोनिया प्लंजर टूट गया, जिससे अमोनिया गैस का रिसाव हुआ। आसपास के कर्मचारी प्रभावित हुए और उन्हें अस्पताल ले जाया गया।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप