लखनऊ (जेएनएन)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिवर्तन महारैली उत्तर प्रदेश में परिवर्तन का शंखनाद करेगी। इसी उम्मीद के साथ दो दिन तक बड़ी संख्या में भाजपा के दिग्गज नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों का जमावड़ा लखनऊ में रहेगा। दो जनवरी को रमाबाई अंबेडकर मैदान में होने वाली मोदी की रैली के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, गृहमंत्री राजनाथ सिंह समेत बड़ी संख्या में केंद्रीय मंत्री और पार्टी के प्रमुख नेता लखनऊ आ रहे हैं। रविवार को ही कई प्रमुख नेता यहां आ गए हैं। रविवार को पार्टी नेताओं ने रैली स्थल पर जाकर निरीक्षण किया। प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, राष्ट्रीय मंत्री श्रीकांत शर्मा, राष्ट्रीय मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह, प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक, मीडिया प्रभारी हरिश्चंद्र श्रीवास्तव, मनीष शुक्ला समेत कई प्रमुख लोगों ने दौरा किया।

मोदी की रैली के लिए नाम से निमंत्रण देकर बुलाए 13 लाख कार्यकर्ता

विफलता छिपाने को समाजवादी नाटक

भाजपा प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने समाजवादी परिवार के आपसी संघर्ष को नाटक करार दिया है। शर्मा ने कहा है कि अखिलेश सरकार हर मोर्चे पर विफल रही इसलिए विफलता छिपाने के लिए सैफई परिवार नाटक कर रहा है। आज पत्रकारों से बातचीत में शर्मा ने कहा कि मीडिया और आमजनमानस में सपा सरकार की विफलता छिपाने के लिए यह गुमराह करने की साजिश है लेकिन उप्र की जनता गुमराह नहीं होने वाली है।

मोदी की रैली के लिए नाम से निमंत्रण देकर बुलाए 13 लाख कार्यकर्ता

श्रीकांत शर्मा ने सवाल उठाया कि साढ़े चार वर्ष तक आखिर अखिलेश चुप क्यों रहे। चुनाव के समय में ही इस तरह की लड़ाई क्यों हो रही है। शर्मा ने कहा कि अखिलेश यादव उप्र के गृहमंत्री भी रहे हैं। मथुरा के जवाहर बाग और बुलंदशहर हाइवे दुष्कर्म जैसी घटनाएं सरकार के मुंह पर तमाचा थीं। उन्होंने कहा कि जिस सरकार में लगातार 1200 हमले पुलिस वालों पर हों, उन्हें सत्ता में रहने का हक नहीं है। शर्मा ने दावा किया कि मोदी की परिवर्तन महारैली उप्र में परिवर्तन का शंखनाद करेगी।

अखिलेश को सर्वसम्मत नेता बनाना मुलायम का मास्टर गेम : साध्वी

Posted By: Nawal Mishra