लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटे भारतीय जनता पार्टी के सभी मोर्चे अलर्ट मोड में आ गए हैं। किसान संवाद कार्यक्रमों से धरतीपुत्रों का मन टटोल चुका भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा अब खेल-खलिहानों के बीच चुनावी जमीन मजबूत कर लेना चाहता है। विजय के इस अभियान का शंखनाद विजयादशमी यानी शुक्रवार को किया जाएगा। पहले दिन हर जिले की एक ग्राम पंचायत में किसान चौपाल का आयोजन किया जाएगा। लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती (31 अक्टूबर) तक सभी 58195 ग्राम पंचायतों में किसान चौपाल आयोजित करने का लक्ष्य रखा गया है।

भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश प्रभारी प्रकाश पाल ने बताया गया कि पार्टी किसानों से लगातार संवाद रखना चाहती है। मोदी-योगी सरकार किसानों की आय दोगुनी करने के लिए संकल्पबद्ध हैं। इस दिशा में लगातार काम हो रहा है। अब किसान मोर्चा ने तय किया है कि प्रदेश की प्रत्येक ग्राम पंचायत में किसान चौपाल आयोजित की जाएगी। इन चौपालों में प्रदेश सरकार के मंत्री, सांसद, विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष उपस्थित रहेंगे।

किसानों से सरकार की हितकारी नीतियों पर चर्चा की जाएगी। वह और क्या चाहते हैं, इस पर भी संवाद होगा। किसान भाजपा संगठन और सरकार की प्राथमिकता में है, यह संदेश गांव-गांव तक पहुंचाना इस कार्यक्रम का उद्देश्य है, जिसकी शुरुआत विजयादशमी से की जा रही है। इसकी तैयारियों को लेकर गुरुवार को प्रकाश पाल ने मोर्चा पदाधिकारियों के साथ प्रदेश मुख्यालय में बैठक की। उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले किसान मोर्चा ने 90 से अधिक विधानसभा क्षेत्रों में किसान संवाद कार्यक्रम भी आयोजित किए थे।

यह भी पढ़ें : यूपी विधानसभा की तैयारी में जुटी भाजपा कराएगी जातियों के सामाजिक सम्मेलन, 32 जाति-वर्ग चिह्नित

Edited By: Umesh Tiwari