कानपुर (जागरण संवाददाता)। सड़कों की उम्र बढ़ाने के लिए नीदरलैंड की तर्ज पर कानपुर में सड़कों के निर्माण में प्लास्टिक का प्रयोग किया जाएगा। मॉडल के रूप में शहर की एक सड़क ली जाएगी और सफल होने पर उसे पूरे प्रदेश में लागू किया जाएगा।

शनिवार को सर्किट हाउस में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के समक्ष लोनिवि के मुख्य अभियंता ने नीदरलैंड मॉडल रखा। मौर्य प्रस्ताव से प्रभावित हुए और इसे पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लेने के निर्देश दिए। मुख्य अभियंता एचएन पांडेय ने उन्हें बताया कि अनुपयोगी प्लास्टिक मिलाने से सड़क निर्माण की लागत कम और उम्र ज्यादा होगी।

यह भी पढ़ें: वाराणसी में चार लाख की हेरोइन संग शातिर को दबोचा

उप मुख्यमंत्री ने डीएम सुरेंद्र सिंह को अपनी निगरानी में ये प्रोजेक्ट शुरू कराने के लिए कहा। सुझाव दिया कि सड़क निर्माण में टॉपर्स इंजीनियर छात्रों की मदद लें।

यह भी पढ़ें: मुजफ्फरनगर में टीचर के थप्पड़ से कक्षा पांच के छात्र की आंख चोटिल

Posted By: Amal Chowdhury

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप