हाथरस, याेगेश शर्मा। सरकार ने बिजली की तर्ज पर आम नागरिकों को दिन-रात शुद्ध पानी देने की योजना बनाई है। शासन के निर्देश पर हाथरस नगर के वार्ड संख्या दो आवास विकास कालोनी के अंतर्गत आने वाले कई मोहल्लों का सर्वे कर के 7.55 करोड़ का प्रस्ताव जल निगम भेज दिया गया है। शासन का मानना है कि प्रयोग सफल रहा तो पूरे प्रदेश में शुद्ध पानी देने की योजना को अमल में लाया जाएगा। बिजली की तरह मीटर से पानी की रीडिंग से शुल्क वसूल किया जाएगा।

वर्तमान में ऐसी है पेयजल व्यवस्था

हाथरस समेत प्रदेश के शहर के नगर पालिका और नगर पालिकाओं में दशकों पुरानी पेयजल व्यवस्था चल रही है। तमाम जगह सरकारी पेयजल व्यवस्था ध्वस्त है। हाथरस नगर पालिका की ओर से अपने सभी वार्ड के लोगों को वाटर टैंक के जरिए पानी की सप्लाई दी जा रही है। सुबह और शाम को एक-एक घंटा आमजन को पानी की आपूर्ति की जाती है। मगर अभी भी तमाम मोहल्ले ऐसे हैं जहां नगर पालिका पानी नहीं दे पा रहा है। इस कारण लोगों ने अपने घरों में निजी समरसेबिल लगाकर पेयजल की सप्लाई सुनिश्चित कर ली है। हाथरस समेत पूरे प्रदेश में कहीं भी ऐसी व्यवस्था नहीं है जहां दिनभर शुद्ध पानी मिल रहा हो।

यह भी पढ़ें : BJP MP को संदेह, अपराधों में तो नहीं हुआ AMU Proctor Office में खड़े वाहनों का प्रयोग, जांच शुरू

अब मिलेगा दिन-रात पानी

सरकार ने सभी जनपद के जल निगम के अधिशासी अभियंताआें को निर्देश दिया था कि वह अपने शहर के उस वार्ड में सर्वे कराएं जहां की आबादी एक लाख से कम है। वहां दिनरात पानी देने के लिए कार्य योजना बनाकर शासन को भेजी जाए। शासन के निर्देश पर जल निगम की एक टीम ने नगर के वार्ड संख्या दो आवास विकास कालोनी में सर्वे किया और पूरी कार्य योजना बनाकर शासन को भेज दी है। जल निगम ने 7.55 करोड़ का प्रस्ताव बनाकर शासन को भेज दिया है।

बिजली की तरह से लगेगा घर पर मीटर

जल निगम के अधिकारियों की मानें तो जिस तरह से बिजली मीटर लगाकर खर्च होने वाली बिजली यूनिट का बिल बनता है उसी तरह से पानी के लिए भी मीटर लगाकर शुल्क वसूल किया जाएगा। इस संबंध में अभी ये तय नहीं किया गया है कि कितने रुपये लीटर पानी का शुरू वसूल किया जाएगा। मगर वार्ड दो के लोगों को जब ये पता चला कि दिन-रात पानी देने के लिए उनके वार्ड को चुना गया है तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

इससे अच्छी बात क्या होगी कि उनके वार्ड को दिन रात पानी देने के लिए चुन लिया गया है। जहां बात से पानी का शुल्क लेने की तो वह भी देंगे। सुविधा को मिलेगी।

मंजू देवी, आवास विकास कालोनी।

हर घर को पानी की जरूरत रहती है। इन दिनों तक पानी नहीं आता जब आवश्यक होती है। अगर कोई नई व्यवस्था लागू हो रही है जिसे लेकर कालोनी के लोग खुश हैं।

रेखा देवी,आवास विकास कालोनी।

जिस तरह से दिनरात बिजली मिल रही है। उसी तरह अगर शुद्ध पानी भी मिलेगा तो इससे बढ़िया और क्या है। वाटर टैक्स दे रहे हैं तो नई व्यवस्था लागू होने पर भी शुल्क देंगे। जीवनलाल शर्मा,आवास विकास कालोनी।

ये हमारे वार्ड का सौभाग्य है कि दिनभर पानी देने के लिए जल निगम से हमारे वार्ड को चुना है। जल निगम की टीम आकर वार्ड में आकर सर्वे का काम पूरा कर चुकी है।

राधेश्याम, सभासद, वार्ड 2 हाथरस नगर।

शासन के निर्देश पर नगर पालिका के वार्ड संख्या 2 आवास विकास कालोनी क्षेत्र का सर्वे कर लिया गया है। दिनरात पानी देने की योजना का 7.55 करोड़ का प्रस्ताव बनाकर भेज दिया है।

वीके गुप्ता, अवर अभियंता जल , हाथरस।

ये भी जानिए

77 000 आबादी पूरे वार्ड की फिलहाल 80000 होगी

2025 में आबादी 15 000

Edited By: Sandeep Kumar Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट