Move to Jagran APP

गाजियाबाद में स्कूल के सामने से 11वीं कक्षा के छात्र को किया किडनैप, कार में बंधक बनाकर पीटा

गोविंदपुरी में स्कूल के सामने से दिनदहाड़े छात्र कुणाल त्यागी का दबंगों ने अपहरण कर लिया। आरोपित उसे कार में बंधक बनाकर निवाड़ी ले गए। रास्ते में उसे बुरी तरह पीटा। कार में चार आरोपित थे। छात्र को पीटते हुए उसका वीडियो भी मोबाइल में रिकॉर्ड किया गया। छात्र कुणाल 11वीं कक्षा का छात्र है। उसकी आरोपितों से तीन दिन पहले कहासुनी हो गई थी।

By Vikas Verma Edited By: Abhishek Tiwari Published: Wed, 15 May 2024 02:30 PM (IST)Updated: Wed, 15 May 2024 02:30 PM (IST)
गाजियाबाद में स्कूल के सामने से 11वीं कक्षा के छात्र को किया किडनैप, कार में बंधक बनाकर पीटा

जागरण संवाददाता, मोदीनगर। गोविंदपुरी में स्कूल के सामने से दिनदहाड़े छात्र कुणाल त्यागी का दबंगों ने अपहरण कर लिया। आरोपित उसे कार में बंधक बनाकर निवाड़ी ले गए। रास्ते में कार सवार चार आरोपितों ने उसे बुरी तरह पीटा। छात्र को पीटते हुए उसका वीडियो भी मोबाइल में रिकॉर्ड कर लिया।

अपहरण का मुकदमा दर्ज

शुरू में पुलिस ने मुकदमा मारपीट में दर्ज किया। अब मारपीट का वीडियो वायरल होने पर मुकदमे को अपहरण की धारा में तरमीम किया गया है। दो आरोपितों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

भोजपुर थाना क्षेत्र के गांव हृदयपुर भंडौला का कुणाल त्यागी गोविंदपुरी स्थित एक स्कूल में 11वीं कक्षा का छात्र हैं। उसकी कुछ दिन पहले स्कूल के ही कुछ छात्रों से उसकी कहासुनी हो गई थी। उस समय तो आसपास के लोगों ने मामला शांत करा दिया। लेकिन आरोपित आक्रोशित थे।

ये भी पढ़ें-

अमन भईया को मत मारो... आरोपितों के सामने गिड़गिड़ाता रहा चश्मदीद, गाजियाबाद के युवक की ग्रेटर नोएडा में हत्या

Ghaziabad Crime: कैब चालक के मुंह पर मुक्का मारकर आईफोन और नकदी लूटी, टेम्पो से आए थे तीन बदमाश

मंगलवार दोपहर को जब स्कूल की छुट्टी हुई तो आरोपितों ने पहले ही स्कूल के बाहर कार खड़ी कर दी। वे कुणाल के इंतजार में थे। जैसे ही कुणाल स्कूल से सड़क पर पहुंचा तो आरोपितों ने मारपीट करते हुए जबरन कार में बैठा लिया। आसपास के लोगों ने शोर मचाया तो आरोपितों ने कार दौड़ा दी।

कार को आरोपित सारा रोड की तरफ ले गए। रास्ते में कुणाल को पीटना शुरू कर दिया। चारों आरोपितों ने ताबड़तोड़ चांटे व मुक्के मारे। बेरहमी से पीटकर बुरी तरह से घायल कर दिया। गाली-गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दी।

कुणाल ने आरोपितों की मिन्नतें की लेकिन उन्होंने उसकी एक नहीं सुनी। कुणाल रोने लगा लेकिन आरोपितों को दया नहीं आई। इसके बाद आरोपित कुणाल को निवाड़ी रोड पर छोड़ गए। वहां आसपास के लोगों की मदद से कुणाल अपने पहुंचा और स्वजन को सारी बात बताई।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.