बदायूं, जागरण संवाददाता। Female constable attempted suicide in Badaun: उझानी थाने में सोमवार को महिला सिपाही और मुंशी के बीच हुआ थप्‍पड़ विवाद खत्म होता नजर नहीं आ रहा है। महिला सिपाही लगातार मुंशी व इंस्‍पेक्‍टर के खिलाफ प्राथमिकी लिखने का दबाव बना रही हैं। महिला ने मुंशी के खिलाफ तहरीर थी दी थी लेकिन, सुनवाई नहीं हुई। इसके चलते शुक्रवार सुबह 10 बजे महिला सिपाही ने एसएसपी कार्यालय में पहुंचकर आत्मदाह का प्रयास किया। हालांकि, पुलिसकर्मी इस घटना से इन्‍कार करते रहे लेकिन, आनन-फानन में मुंशी के खिलाफ प्राथमिकी लिख ली गई। 

यह भी पढ़ें:- इस थाने में चल रहा जातिवाद... बदायूं में मुंशी को थप्‍पड़ मारने वाली महिला सिपाही का इंस्‍पेक्‍टर से झड़प का आडियो वायरल

सोमवार को महिला सिपाही व मुंशी द्वारा एक दूसरे के साथ मारपीट करने के बाद आडियो-वीडियो भी प्रसारित हुए। एसएसपी ने मामले की जांच एसपी सिटी को सौंपी थी। एसपी सिटी ने महिला सिपाही, मुंशी और थाने के कर्मचारियों के बयान भी दर्ज किए थे। महिला सिपाही उझानी इंस्पेक्टर और मुंशी पर प्राथमिकी दर्ज कराने की कोशिश कर रही थीं। वह अधिकारियों से इस संबंध में कई बार मिली भी थीं, लेकिन प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई थी।

यह भी पढ़ें:- यह भी पढ़ें:- बदायूं में महिला सिपाही ने थाने में मुंशी काे जड़ा थप्पड़, तबादले से गुस्साई सिपाही ने हाथापाई भी की

इसी बात को लेकर वह शुक्रवार को सुबह एसएसपी आफिस पहुंची और उसने केरोसिन डालकर आग लगाने का प्रयास किया। कार्यालय में मौजूद लोगों ने महिला सिपाही को बचा लिया। इसके बाद महिला सिपाही को एसपी देहात के यहां पेश किया गया। जिस पर महिला सिपाही ने रोते हुए बताया कि उसकी सुनवाई नहीं हो रही है। महिला सिपाही को समझा बुझाकर शांत कराया गया।

इसके बाद महिला सिपाही की तहरीर पर उझानी थाने में तैनात रहे गुलाब मुंशी के खिलाफ छेड़छाड़ व मारपीट की प्राथमिकी दर्ज कर ली गई। हालांकि, काफी समय तक पुलिसकर्मी महिला सिपाही द्वारा आत्‍मदाह का प्रयास किए जाने की बात को दबाते रहे। एसपी देहात सिद्धार्थ ने ने कहा कि ऐसा कुछ नहीं हुआ है लेकिन, मुंशी के खिलाफ प्राथमिकी पंजीकृत होते ही बात सामने आ गई।

Edited By: Vivek Bajpai