बरेली, जागरण संवाददाता। भाजपा की पूर्व प्रवक्‍ता नुपुर शर्मा के समर्थन में इंटरनेट मीडिया पर पोस्‍ट करने वाले टेलर की राजस्‍थान के उदयपुर में हत्‍या को लेकर पूरे देश में गुस्‍सा है। दरगाह आला हजरत से जुड़े संगठन इत्‍तेहाद-ए-मिल्‍लत काउंसिल (आइएमसी) के प्रमुख मौलाना तौकीर रजा ने भी घटना की घोर निंदा करते हुए राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत के इस्‍तीफे की मांग की है। उन्होनें कहा इस घटना के लिए मैं माफी मांगता हूं। ये जघन्य अपराध है। आरोपितों को सख्‍त से सख्‍त सजा दी जाए। जिन्‍होंने इस घटना को अंजाम दिया है, वे इस्‍लाम के सबसे बड़े दुश्‍मन हैं। इससे देश में मुसलमानों के खिलाफ नफरत बढ़ेगी।

Udaipur Murder Case: दरगाह आला हजरत से की गई हत्‍या की निंदा, मौलाना शहाबुद्दीन बोले- घटना से झुक गया मुसलमानों का सिर

मौलाना ने कहा कि नुपुर शर्मा के खिलाफ पूरी दुनिया में जो मुसलमानों ने धरना प्रदर्शन किया उन सब पर पानी फेरने का काम इन लोगों ने किया है। उन हत्‍यारों ने जो किया है, इस्लाम इसकी इजाजत नहीं देता है। बीजेपी और आरएसएस का जो एजेंडा है, ये लोग उसके माध्‍यम बन गए हैं। हिंदू और मुसलमानों के बीच इन लोगों ने खाई बढ़ाने का काम किया है। मेरे समाज के लोगों ने ये जुर्म किया है। इसके लिए मैं समझता हूं कि मैं भी जिम्‍मेदार हूं। मुझे भी इसके लिए सजा मिलनी चाहिए। 

मौलाना ने कहा कि वह टेलर मुसलमानों का दुश्‍मन नहीं था। वह तो उनका काम करने जा रहा था। वह उनके कपड़ों की नाम लेने जा रहा था। अगर वह मुसलमानों का दुश्‍मन होता तो आरोपितों को दुकान में घुसने ही न देता लेकिन, इन हत्‍यारों ने जिस बेरहमी से उसका गला काट दिया, उसकी जितनी निंदा की जाए कम है। ये इस्‍लाम के दुश्‍मन हैं। मौलाना ने यह भी कहा कि मैं गोहत्‍या व गोतस्‍करों के खिलाफत करता हूं फिर किसी इन्‍सान को मारने की इजाजत कैसे दी जा सकती है। यह इस्‍लाम के खिलाफ है। आरोपितों पर जल्‍द कार्रवाई होनी चाहिए।

Edited By: Vivek Bajpai