प्रयागराज, जेेएनएन।। अब यह बात साबित हो चुकी है जानलेवा महामारी कोरोना वायर को हराने के लिए आत्म बल जरूरी है। साफ बात है कि डरना नहीं है। बिना घबराए डॉक्टर की सलाह पर अमल करते रहें तो कुछ दिन में कोरोना भाग जाएगा। इस जनपद में हजारों लोगों ने कोरोना को यूं ही बिना डरे-घबराए योग और कारगर नुस्खों को आजमाकर भगाया।

कोरोना को मात देने वाले लेगों में ही एक हैं आर्य प्रतिनिधि सभा के प्रदेश महामंत्री पंकज जायसवाल। उन्होंने बताया कि आठ अप्रैल को बुखार तथा सर्दी का अहसास। लक्षण दिखते ही तुरंत कोविड-19 की जांच कराई तो रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई। एक दो दिन में ही तबियत ज्यादा बिगडऩे लगी लेकिन हिम्मत बनाए रखी और फिर स्वरूपरानी अस्पताल में भर्ती हो गए। वहां आक्सीजन स्तर 82 था यानी सामान्य से बेहद कम मगक घबराए नहीं। अनुलोम विलोम औऱ जल्दी जल्दी सांस लेने सहित तमाम तरह की फेफड़ों से संबंधित एक्सरसाइज करते रहे। तीसरे दिन ही अपने से ऑक्सीजन हटा दिया। बस लंबी श्वास के साथ ओमकार का उच्चारण भी करते रहे। अस्पताल में आपने आसपास के अन्य मरीजों को भी यह अभ्यास कराया। उन्हें भी लाभ मिला।

घर में दो बेटे भी जूझ रहे थे कोरोना से

इधर घर में बड़े बेटे सार्थक और छोटे बेटे अविरल की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई। वे दोनों भी घर पर ही सभी उपचार और अभ्यास करते रहे। सार्थक हमेशा ह्वील चेयर पर रहते हैं लेकिन उन्हें भी आत्मविश्वास था कि ठीक हो जाएंगे। वह फोनकर हमें हौसला देते। ईश्वर की कृपा से हम तीनों स्वस्थ हो गए। वातावरण की स्वच्छता के लिए हम सब घर में प्रतिदिन हवन भी कर रहे हैं। इसे यदि सभी लोग करें तो लाभ मिलेगा।