प्रयागराज, जेएनएन। धूमनगंज इलाके में पूरी सड़क पर डिवाइडर बनाए जाने का विरोध बढ़ता ही जा रहा है। सुलेमसराय में कट खुलने की वजह से जाम लगने पर बुधवार की रात टै्रफिक पुलिस ने बाइक निकलने वाले कटों को भी बंद कर दिया गया। ऐसे में देर रात व्यापारियों ने बवाल कर दिया। आक्रोशित दुकानदार सड़क पर उतर हंगामा करने लगे। कट को बंद करने पहुंचे पुलिसकर्मियों से व्यापारियों की कहासुनी हो गई।

प्रयागराज-कानपुर मार्ग पर जाम लगा दिया

लोगों ने एसपी ट्रैफिक कुलदीप सिंह से झड़प करने के बाद प्रयागराज-कानपुर मार्ग पर जाम लगा दिया। दर्जनों लोग सड़क पर बैठकर नारेबाजी करने लगे। इससे अफरा-तफरी मच गई। हंगामे की खबर पाकर कई थानों की फोर्स पहुंच गई। वाहनों का आवागमन बंद हो गया। जाम में दो एंबुलेंस भी फंसी रही। व्यापारी डिवाइडर हटाने जाने की मांग कर नारेबाजी करते रहे। देर रात तक पुलिस अधिकारी मामला शांत कराने में लगे रहे। करीब साढ़े 12 बजे अधिकारियों के आश्वासन के बाद जाम समाप्त हुआ।

व्यापारियों ने कहा, सात कट बनाए जाएं जिससे लोग सड़क क्रास कर सकें

चौफटका से धूमनगंज और बमरौली तक विकास प्राधिकरण ने पूरी सड़क पर लंबा डिवाइडर बना दिया है। इससे जाम की समस्या दूर हुई है। साथ ही सड़क हादसों पर रोक लगी है। व्यापारियों को अपनी दुकान और घर तक पहुंचने के लिए लंबा घेरा काटना होता है। इसे लेकर वहां के कारोबारी काफी दिनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। उनका कहना है कि सात कट बनाए जाएं जिससे लोग सड़क क्रास कर सकें। पहले हुए हंगामे के बाद प्रीतम नगर और कन्हईपुर मोड़ पर डिवाइडर हटा दिया गया था। सुलेमसराय में बाइक और साइकिल निकलने के लिए कट थे। 

एसपी ट्रैफिक ने कट को बंद करा दिया तो हुआ हंगामा 

एसपी टै्रफिक ने बुधवार को फोर्स के साथ पहुंच उन कट को बंद करा दिया। इसी को लेकर रात सवा ग्यारह बजे व्यापारियों ने हंगामा कर जाम लगा दिया। आसपास के लोग सड़क पर आकर नारेबाजी करने लगे। कानपुर मार्ग पर जाम लगाए जाने से वाहनों की कतार लग गई। कई एंबुलेंस जाम में फंस गई। पुलिस ने बातचीत कर एंबुलेंस को निकलवाया, लेकिन आक्रोशित भीड़ जाम खोलने को तैयार नहीं हुई। स्थानीय लोगों का कहना है कि वहां सात मोड़ पर डिवाइडर हटाए जाएं। 

बोले एसपी ट्रैफिक 

एसपी टै्रफिक का कहना है कि पूरी सड़क पर कट खोले जाने से जाम लग रहा है। दो कट खोल दिए गए लेकिन लोग उससे संतुष्ट नहीं हैं। पुलिसवालों ने मामला आला अफसरों के संज्ञान में लाकर हल निकालने का आश्वासन दिया तो लोग शांत हुए। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Brijesh Srivastava