आगरा, जागरण संवाददाता। दिसंबर और जनवरी में कई बार ऐसे हालात बनते हैं कि कोहरे की वजह से कई बार सौ मीटर की दूरी भी स्पष्ट दिखाई नहीं पड़ती। अमूमन रात और सुबह के समय दुर्घटना होने की आशंका बढ़ जाती है। हर साल धुंध और कोहरे की जुगलबंदी से दर्जनों हादसे होते हैं। इन हादसों में दर्जनों लोग घायल और इतने ही लोगोंं की अकाल मौत हो जाती है। तमाम लोग जिंदगी भर के लिए दिव्यांग हो जाते हैं। ऐसे में सुरक्षित ड्राइविंग से न केवल सड़क हादसे कम किए जा सकते हैं, बल्कि ऐसा करके अन्य राहगीरोंं का जीवन भी बचाया जा सकता है। 

ये अपनाएं उपाय

1- लो बीम पर रखें गाड़ी हेडलाइट

ऐसा करने से आपको देखने में आसानी होगी और सामने वाले को भी गाड़ी की सही स्थिति का पता चलेगा।

2- लाइन में चलाएं अपने वाहन

कोहरा घना हो तो वाहनों को लाइन में ही चलाने का प्रयास करें। सड़क के बाएं किनारे को देखकर गाड़ी चलाएं। इस तरह बिना किसी भटकाव के गाड़ी चलती रहेगी।

3- करें पीली लाइट को फॉलो

वाहन चालकों की सहूलियत के लिए सड़कों के किनारे पीली ईट लगाई जाती है। चालकोंं को इसे फॉलो करना चाहिए।

4- दूरी का रखें ध्यान

हादसों से बचने के लिए सामने वाली गाड़ी से दूरी बनाकर रखना जरूरी है। कारण यह कि कोहरे की वजह से सड़कें गीली होती है। इसलिए गाड़ी का ब्रेक लगाने में दिक्कत आ सकती है।

5- इंडीकेटर पर रखे ध्यान

गाड़ी चलाते समय वाहनों के इंडीकेटर पर ध्यान रखनी जरूरी है। गाड़ी मोडऩे से पहले इंडिकेटर देना शुरू कर देना चाहिए। ऐन मोड़ पर इंडिकेटर नहीं देना चाहिए।

6- फॉग लाइट का लें सहारा

फॉग लाइट धुंध काटने में मददगार होता है।

7- वाहनों की स्पीड रखें नियंत्रित

कोहरे के दिनों में वाहनों की रफ्तार पर नियंत्रण जरूरी है। दूसरी गाडिय़ों को ओवरटेक करने से भी बचें।

8- रेडियम टेप लगवा लें

आप अपनी गाड़ी के पीछे रेडियम टेप या रिफ्लेक्टर लगवा लें। इससे पीछे वाली गाड़ी को आपकी स्थिति का पता चलता रहेगा।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021