Move to Jagran APP

Agra: योगी सरकार में अधिकारी निरंकुश! मुफ्त में चाहिए हर चीज, कैफे में बेटे को नहीं मिली फ्री सर्विस, तो अधिकारी पिता ने दिखाए तेवर

Agra News In Hindi ताजगंज थाना क्षेत्र के एक कैफे में बेटे को मुफ्त सेवा नहीं मिली। मेहमान नवाजी में कमी रहना अधिकारी पिता को भी पसंद नहीं आया। अधिकारी ने कैफे के प्रतिनिधियों को जमकर खरी खोटी सुनाई। इस पर भी मन नहीं भरा तो कार्रवाई की चेतावनी दे डाली और टीमों को भेज दिया। कैफे के एक प्रतिनिधि ने इसकी शिकायत जिले के उच्च अधिकारी से की।

By amit dixit Edited By: Abhishek Saxena Published: Tue, 11 Jun 2024 07:32 AM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 07:32 AM (IST)
Agra News: कैफे में बेटे को नहीं मिली मुफ्त सेवा, अधिकारी पिता ने दी कार्रवाई की

जागरण संवाददाता, आगरा। योगी सरकार में अधिकारी निरंकुश हो गए हैं। हर चीज मुफ्त में चाहते हैं। यही आदत अधिकारियों के स्वजन में भी है। बेटे को फ्री सर्विस नहीं मिली तो उसे बंद करने की धमकी दे डाली। मामला खुलने के बाद अधिकारी को अपनी गलती का अहसास हुआ। बदनामी के डर से अधिकारी कैफे प्रतिनिधि और अधिकारी ने चुप्पी साध ली।

घटना 11 दिन पूर्व की है। अधिकारी शहरी क्षेत्र का कार्य नहीं देखते हैं। अधिकारी का पुत्र भी बाहर रहता है। 11 दिन पूर्व अधिकारी का पुत्र उनके पास आया था। ताजगंज स्थित नामचीन कैफे में पुत्र खाना खाने गया था। रात 10 बजे के बाद मुफ्त सेवा को लेकर मामला बिगड़ गया।

अधिकारी के पुत्र ने परिचय भी दिया फिर इसकी शिकायत पिता से की। पिता ने मामले को समझा और कुछ देर में बात करने की बात कही। अधिकारी पिता ने कैफे के एक प्रतिनिधि को फोन किया। फोन पर जमकर डांट लगाई और कार्रवाई तक की धमकी दे डाली। कैफे में विवाद बढ़ता देख पुत्र घर लौट आया।

अधिकारी ने टीमों को भेजा

अधिकारी ने कई टीमों को कार्रवाई को भेज दिया। हालांकि यह टीमें आगे की कार्रवाई करतीं, इससे पूर्व ही मामला गर्मा गया। अधिकारी ने जिस तरीके से व्यवहार किया। उससे कैफे प्रतिनिधि डर गए। हिम्मत जुटाई और फिर पूरे घटनाक्रम के बारे में उच्च अधिकारी को बताया गया।

मोबाइल पर कुछ सूबूत भी भेजे गए। विवाद को खत्म कराने के प्रयास शुरू हो गए। अधिकारी और कैफे प्रतिनिधि को बदनामी का डर सताते लगा। चुप्पी साध ली। कैफे पर आगे की कार्रवाई न हो, इसका भरोसा दिलाया गया लेकिन मामला खुलने के बाद अब यह चर्चा का विषय बन गया है।

ये भी पढ़ेंः Taj Mahal: 'बंद कर दो ताजमहल जब इंतजाम नहीं', कुत्ते के काटने पर नहीं मिली एंटी रैबीज वैक्सीन तो गुस्साए टूरिस्ट

ये भी पढ़ेंः दो महीने से बदला पत्नी का मिजाज, नायब तहसीलदार ने थाने में लिखाई रिपोर्ट तो अधिकारियों ने भी जताई हैरानी, बोले…

यलो चिली रेस्टोरेंट में भी नहीं मिली थी मुफ्त सेवा 

संजय प्लेस स्थित यलो चिली रेस्टोरेंट में भी कुछ ऐसा ही एक अधिकारी ने खेल किया था। नौ सितंबर 2015 की रात अधिकारी का चहेता रेस्टोरेंट में खाना खाने गया था। मुफ्त सेवा न मिलने पर अधिकारी से शिकायत की। रात में रेस्टोरेंट में छापा मारा गया। गंदा पानी से लेकर कोयला तक रखा गया।

अधिकारियों ने इस घटना पर चुप्पी साध ली थी लेकिन सीसीटीवी कैमरों ने पूरी खोल दी। लोकायुक्त ने मामले की जांच की। तत्कालीन एडीएम सिटी राजेश श्रीवास्तव और एसीएम पंचम सौजन्य कुमार को दोषी मानते हुए कार्रवाई की गई।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.