आगरा (जागरण संवाददाता)। ताजगंज के करबना गांव में अज्ञात लोगों ने गोवंश पर तेजाब से हमला बोल दिया। उनके घायल होने की जानकारी सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद हिंदू संगठन के सदस्य गांव पहुंचे और हंगामा कर दिया। प्रशासन के अधिकारियों ने पशु चिकित्सकों की टीम गांव में भेज गोवंश का इलाज कराया। मामले में पुलिस ने अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है।

करबना गांव के तीन दर्जन गोवंश को लोगों ने खुला छोड़ रखा है। इन पर दो सप्ताह से तेजाबी हमले हो रहे हैं, जिसमें 20 गोवंश झुलस गए। एक सप्ताह पहले इसकी जानकारी हिंदू संगठन के सदस्यों को होने पर उन्होंने बैठक बुलाई। तेजाब फेंकने वालों का पता लगाने का प्रयास किया तो पता चला कि अधिकांश घटनाएं रात में हुईं।

दो दिन से इन पशुओं के शरीर की खाल उतरने लगी, उनके घाव होने लगे। इस पर हिंदू संगठनों के सदस्य गांव पहुंचे। उन्होंने गोवंश के इलाज को लेकर हंगामा शुरू कर दिया। अल्पसंख्यक संप्रदाय पर तेजाबी हमले का शक होने पर तनाव फैल गया।

यह भी पढ़ें: अफसरों ने जमकर खाई लखनऊ एक्सप्रेस वे से मलाई

थाने की फोर्स मौके पर पहुंची, प्रशासन ने पशु चिकित्सकों की टीम मौके पर भेजी। इसके बाद लोगों का हंगामा शांत हुआ। इंस्पेक्टर ताजगंज राजा सिंह ने बताया अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। गोवंश पर तेजाब फेंकने वालों का सुराग लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: यूपी में सुरक्षित बसों के लिए महिलाओं को करना होगा 13 महीने का और इंतजार

Edited By: amal chowdhury