नई दिल्ली(टेक डेस्क)। गूगल ने साल भर पहले Youtube का नया डिजाइन लॉन्च किया था। इस नए डिजाइन की मदद से Youtube गूगल क्रोम पर तो तेजी से ओपेन और स्ट्रीम हो रहा था, लेकिन दूसरे ब्राउजर जैसे Edge, Safari या फिर Firefox पर यह बहुत धीमी स्पीड से काम कर रहा था। इस दौरान अक्सर देखने में आता था कि Youtube बहुत धीरे इन ब्राउजर पर लोड होता था।

Mozilla के प्रोग्राम मैनेजन क्रिस पीटरसन ने इस सप्ताह Youtube के दूसरे ब्राउजर पर स्लो चलने का कारण बताया है। क्रिस पीटरसन का कहना है कि Youtube का दूसरे ब्राउजर पर स्लो चलना असल में ब्राउजर की गलती नहीं बल्कि गूगल के डिजाइन की वजह से हो रहा है। उन्होंने बताया कि गूगल के रीडिजाइन API पर निर्भर करती है, जो सिर्फ गूगल क्रोम में इम्प्लिमेंट किया गया है। इसके चलते दूसरे ब्राउजर्स पर Youtube 5 गुना धीमे रेंडर करता है।

हाल ही में गूगल ने अपने वेब सर्विसेज को इस तरह से तैयार किया है जिससे ये तेज और सिर्फ कंपनी के क्रोम ब्राउजर पर ही काम करते हैं। गूगल ने अपने Google Meet, Allo, YouTube TV, Google Earth और YouTube Studio Beta जैसी सर्विसेज को Microsoft Edge पर ब्लॉक किया था। इसके अलावा Google Meet, Google Earth और YouTube TV जैसी सर्विसेज Firefox पर ब्लॉक थीं। यहां तक की गूगल ने अपनी आक्रमक रणनीति के दौरान साल भर पहले Google Maps सर्विसेज को विंडोज फोन पर ब्लॉक कर दिया था।

इस दौरान YouTube गूगल की एक ऐसी सर्विस थी जो गूगल क्रोम के अलावा दूसरे ब्राउजर पर भी काम कर रही थी। हालांकि इस दौरान इन ब्राउजर पर YouTube का स्लो रीलोड और स्ट्रीम होना एक आम बात हो गई थी। इससे यूजर्स को लगता था कि उनका ब्राउजर क्रैश हो गया है या फिर इंटरनेट स्लो काम कर रहा है। हालांकि इस दौरान YouTube गूगल क्रोम पर तेजी से स्ट्रीम कर रहा था।

यह भी पढ़ें:

Google Maps पर इस ट्रिक की मदद से बचाएं अपनी गाड़ी का पेट्रोल और समय

अपने दोस्तों के साथ खेलें ये 4 गेम्स, फोन पर ही मिलेगा रियल गेमिंग एक्सपीरियंस

6000 रुपये से कम कीमत में ये 4 स्मार्टफोन इस महीने हुए लॉन्च 

Posted By: Shridhar Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप