नई दिल्ली (टेक डेस्क)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT) बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (BHU) में सुपर कम्प्यूटर Param Shivay का उद्धाटन कर दिया है। इसमें 833 टेराफ्लॉप की क्षमता दी गई है। इस कंप्यूटर को पूरी तरह से भारत में बनाया गया है। इससे डिजिटल इंडिया और मेक इन इंडिया योजना को एक नया आयाम मिलेगा। इस कंप्यूटर की मदद से जिस रिसर्च में महीनों का समय लगता था उसे अब कम समय में ही पूरा कर लिया जाएगा।

क्या है IIT का कहना:

राष्ट्री य सुपर कंप्यूोटिंग मशीन (NSM) के तहत यह सुविधा IIT-BHU में शुरू की गई है। IIT के निदेशक प्रोफेसर प्रमोद कुमार जैन ने बताया कि सेंटर फॉर डेवलेपमेंट ऑफ एडवांस कंप्यूटिंग ने NSM के तहत 833 टेराफ्लॉप कैपेसिटी वाले पहले सुपर Param Shivay का निर्माण किया है।

इन क्षेत्रों में होगा फायदा:

आपको बता दें कि सुपर कंप्यूाटर का फायदा IIT-BHU की फैक्लटी, वैज्ञानिकों और रिसर्च छात्रों को मिलेगा। इनके अलावा ईस्ट यूपी के आसपास के इंजिनियरिंग कॉलेज के रिसर्च छात्रों के साथ सरकारी रिसर्च लैबोरेट्रीज में चल रही राष्ट्री य महत्व की परियोजनाओं को Param Shivay कंप्यूिटर लाभ प्रदान करेगा। वहीं, 40 फीसद कंप्यूटर पावर नवोदय विद्यालय के छात्रों द्वारा इश्तेमाल की जाएगी।

जानें Param Shivay के बारे में:

Param Shivay में 1 पेटा बाइट सेकेंडरी स्टोरेज दी गई है। साथ ही इसमें ओपन सोर्स सिस्टम मौजूद है। साथ ही 223 प्रोसेसर नोड्स, 384 जीबी प्रति नोड्स DDR4 रैम, पैरेलल फाइल सिस्टम समेत CPU औप GPU शामिल हैं। आपको बता दें कि भारत का पहला सुपर कंप्यूटर Param 8000 को वर्ष 1991 में लॉन्च किया गया था।

यह भी पढ़ें:

Xiaomi Mi 9, Mi 9 Explorer Edition और Mi 9 SE होंगे लॉन्च, जानें कीमत से फीचर्स तक हर डिटेल

Samsung Galaxy S10 सीरीज Unpacked Event में होगी लॉन्च, पढ़ें हर छोटी बड़ी डिटेल

RBI के बाद NPCI ने AnyDesk ऐप के लिए दी यूजर्स को चेतावनी, भूलकर भी न करें डाउनलोड  

Posted By: Shilpa Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप