जम्मू, जागरण ब्यूरो। श्रावण पूर्णिमा पर रविवार को श्री बाबा अमरनाथ की वार्षिक यात्रा संपन्न हो गई। 44 दिन चली यात्रा के अंतिम दिन छड़ी मुबारक ने दर्शन किए गए और इसके साथ ही राज्यपाल एनएन वोहरा पवित्र गुफा पहुंचे और सुबह पूजा-अर्चना कर राज्य में शांति, सौहार्द और खुशहाली के लिए प्रार्थना की। महंत दिपेंद्र गिरि जी के नेतृत्व में श्रद्धालुओं व साधुओं ने छड़ी मुबारक की पूजा-अर्चना की।

राज्यपाल वोहरा जो श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड के चेयरमैन भी हैं, ने मुख्य कार्यकारी अधिकारी राकेश गुप्ता के साथ पवित्र गुफा के बाद पंजतरणी, बालटाल, शेषनाग और नुनवन यात्रा कैंपों का दौरा कर पुलिस, सेना, सुरक्षा बलों और जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठकें कर संपन्न हुई यात्रा की समीक्षा की। इस बार बाबा अमरनाथ की पवित्र गुफा में हिमलिंग अब तक विराजमान है।

इस वर्ष अभी तक यात्रा मार्ग की बर्फ नहीं पिघली है किंतु यात्रा सुचारू रूप से चली। राज्यपाल ने मुख्य कार्यकारी अधिकारी को निर्देश दिए कि सभी कैंप स्थलों को साफ किया जाए और वर्ष 2015 की यात्रा के लिए कार्य योजना तैयार की जाए। इस संबंध में राज्यपाल 13 अगस्त को समीक्षा बैठक करेंगे, जिसमें एक सौ से अधिक अधिकारी शामिल होंगे।

सीईओ ने बताया कि इस बार 3.72 लाख श्रद्धालुओं ने पवित्र गुफा में शिवलिंग के दर्शन किए। बालटाल रूट से यात्रा 28 जून से शुरू हुई थी और पहलगाम रूट से दो जुलाई को यात्रा शुरू हुई थी।

पढ़े: सिर्फ रक्षाबंधन पर खुलते हैं कपाट

पिछले वर्ष के मुकाबले अधिक श्रद्धालुओं ने किए बाबा के दर्शन

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप