जयपुर, नरेन्द्र शर्मा। Coronavirus: राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार प्रदेश के सभी साढ़े सात करोड़ लोगों की स्क्रीनिंग कराएगी। स्क्रीनिंग के दौरान शंका होने पर सैंपल टेस्टिंग होगी। मेडिकल विभाग के कर्मचारियों के साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और जिला कलेक्ट्रेट के कर्मचारी स्क्रीनिंग का काम करेंगे।

प्रदेश के चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा ने "दैनिक जागरण" को बताया कि प्रदेशभर में स्क्रीनिंग का काम शुरू करने की तैयारी कर ली गई है। उन्होंने बताया कि कोरोना प्रभावित प्रदेश के 11 जिलों में से भीलवाड़ा और झुंझुनूं में वर्तमान में स्क्रीनिंग का काम चल रहा है। जयपुर, जोधपुर और अजमेर में भी अब शुरू किया गया है। अगले एक-दो दिन में प्रदेश के सभी 33 जिलों के साढ़े सात करोड़ लोगों की स्क्रीनिंग होगी।

उधर, भीलवाड़ा में कोरोना ट्रांसमिशन का कारण बने स्थानीय बांगड़ अस्पताल के चिकित्सक और जयपुर के रामगंज निवासी व्यक्ति के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने की तैयारी की जा रही है। भीलवाड़ा के जिस चिकित्सक के सबसे पहले कोरोना वायरस के संक्रमण मिले थे, उसके यहां सऊदी अरब से रिश्तेदार आकर ठहरे थे। उसी चिकित्सक के कारण अस्पताल के 18 मेडिकल स्टाफ के कोरोना पॉजिटिव पाया गया। इस चिकित्सक के साथ अन्य साथी पॉजिटिव डॉक्टरों ने करीब 10 हजार लोगों का डेढ़ सप्ताह में ट्रीटमेंट किया।

भीलवाड़ा जिला कलेक्टर राजेंद्र भट्ट ने बताया कि चिकित्सक के संपर्क में कौन-कौन आया, इसकी पूरी छानबीन की जा रही है। जयपुर के रामगंज इलाके में पॉजिटिव मिला 45 साल का व्यक्ति 13 मार्च को ओमान से आया। उसे चिकित्सा विभाग की टीम ने होम क्वारंटाइन में रहने को कहा, लेकिन फिर भी वह अपने रिश्तेदारों व अन्य लोगों से मिलता रहा। वह कुल 150 लोगों से मिला। उसके संपर्क में आए अब तक जो 10 पॉजिटव मिले हैं, उनमें से आठ उसके परिजन ही है। इस कारण प्रशासन यह मान रहा है कि उसने जानबूझकर लापरवाही की। उसके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने की तैयारी की जा रही है। फिलहाल, वह एसएमएस अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती है। उसके डिस्चार्ज होने के बाद प्रशासन कार्रवाई करेगा। प्रशासन इस बात को लेकर चिंतित है कि कहीं भीलवाड़ा की तर्ज पर जयपुर में कम्युनिटी ट्रांसमिशन की शुरुआत तो नहीं हुई है।

विदेशी नागरिक से होटल खाली कराया, आठ दिन से टीन-शेड में रह रहा 

उत्तराखंड के उधमसिंह नगर स्थित कलयावाला गावं में टेलर्स आर्ट एकेडमी फेस्टिवल में शामिल होकर 12 मार्च को जयपुर 78 साल का ऑस्ट्रोलिया का कलाकार डीटर कुंज पिछले आठ दिन से ब्रेड और नमकीन खाकर पेट भर रहा है। पेशे से मूर्तिकार डीटर कुंज यहां एक होटल में ठहरा था, लेकिन 21 मार्च को होटल प्रबंधन ने उससे कमरा खाली करा लिया। एक दिन तो वह सड़क पर ही रहा। अगले दिन उसने जयपुर निवासी अपने परिचित मूर्ति कलाकार लक्ष्मीनारायण नागा से संपर्क किया। उसके बाद नागा डीटर कुंज को अपने मूर्ति बनाने के हॉल में ले गया। अब पिछले आठ दिन से वह टीन-शेड के इसी हॉल में रह रहा है। टीन-शेड के नीचे रहते हुए वह काफी परेशान हो गया। डीटर कुंज ने दैनिक जागरण को बताया कि इस दौरान उसने दिल्ली स्थित आस्ट्रेलिया एंबेसी में भी ईमेल भेजा है, लेकिन अब तक वहां से कोई जवाब नहीं मिला। वह आठ दिन से ब्रेड और नमकीन खाकर पेट भर रहा है।

यह भी पढ़ेंः राजस्थान में कोरोना वायरस के 14 और पाॉजिटिव केस, अब तक कुल 93 मामले

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस