राज्य ब्यूरो, जयपुर। Rajasthan Panchayat Election: राजस्थान में वहीं व्यक्ति पंचायत चुनाव लड़ सकेगा, जिसके घर में शौचालय हो और जिसका पूरा परिवार इसका इस्तेमाल करता हो। चुनाव लड़ने के इच्छुक व्यक्ति को नामांकन पत्र के साथ इस बारे में एक शपथ पत्र देना होगा। शपथ पत्र नहीं दिया गया तो नामांकन खारिज कर दिया जाएगा। राजस्थान में पंचायत चुनाव में इस तरह की अनिवार्यता पहली बार लागू की गई है।

राजस्थान में अगले वर्ष जनवरी-फरवरी में होने वाले पंचायत चुनाव के बारे में राजस्थान राज्य निर्वाचन आयोग ने अधिसूचना जारी की है। यह अधिसूचना पंच या पंचायत समिति सदस्य या जिला परिषद सदस्य का चुनाव लडने की न्यूनतम योग्यता से संबंधित है। अधिसूचना में कहा गया है कि जो भी व्यक्ति पंच, पंचायत समिति सदस्य या जिला परिषद सदस्य का चुनाव लड़ना चाहते हैं, उन्हें यह शपथ पत्र देना होगा कि उसके घर में एक पक्का शौचालय है, जिसमें तीन दीवारें और छत तथा दरवाजा है। इसमें पानी की व्यवस्था भी है और उसके घर का कोई भी सदस्य यानी माता-पिता, पत्‍‌नी या पति और बच्चे खुले में शौच के लिए नहीं जाते हैं।

चुनाव लड़ने के इच्छुक व्यक्ति को अपने नामांकन पत्र के साथ दिए जाने वाले संतान, अपराधिक रिकार्ड और संपत्ति संबंधी दस्तावेजों के साथ ही शौचालय के उपयोग के बारे में भी शपथ पत्र देना होगा। यदि यह शपथ पत्र नहीं है तो उसे नोटिस दिया जाएगा कि नामांकन पत्र की जांच से पहले शपथ पत्र पेश करे और इसके बाद भी शपथ पत्र नही आता तो उसका नामांकन खारिज कर दिया जाएगा। आयोग ने अधिसूचना के साथ शपत्र पत्र का प्रारूप भी जारी किया है और सभी को इसी प्रारूप में यह शपथ पत्र देना होगा।

गौरतलब है कि राजस्थान में अगले साल जनवरी या फरवरी में पंचायत चुनाव होने वाले हैं। पंचायत चुनाव की तैयारी सभी सियासी दलों ने जोरों से शुरू की है।

यह भी पढ़ेंः किसानों को बिजली के बिल में बड़ी राहत

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस