जयपुर, जेएनएन। Raghu Sharma. राजस्थान के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने सोमवार को राज्य विधानसभा में 'निरोगी राजस्थान' अभियान को लेकर हुई चर्चा के दौरान कहा, 'अब हम दो, हमारे दो की बजाए हम दो, हमारा एक' का नारा लगाने का वक्त आ गया है। शर्मा ने यह भी कहा कि हमने उक्त अभियान में जनसंख्या स्थिरीकरण को प्रमुख बिंदु बनाया है। अभियान के तहत कैंसर, डायबिटीज व हृदय रोगों से बचाव पर खास जोर दिया जाएगा। अभियान के लिए पूरे राज्य में एक लाख से ज्यादा 'स्वास्थ्य मित्र' नियुक्त किए जाएंगे।

अभियान में विपक्ष का सहयोग

राज्य विधानसभा में सोमवार को 'निरोगी राजस्थान' अभियान पर विस्तार से चर्चा हुई और प्रतिपक्ष की ओर से भी सरकार के इस अभियान में सहयोग देने का भरोसा दिलाया गया। चर्चा का जवाब देते हुए चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि पहली बार इस अभियान में उपचार नहीं बचाव पर भी ध्यान दिया गया है। सभी गांवों व वार्डों में निश्चित समयावधि में एक महिला व पुरुष को चिकित्सा मित्र के रूप में नियुक्त किया जाएगा। ऐसे एक लाख से ज्यादा चिकित्सा मित्र बनाए जाएंगे। अभियान में गैर संचारी रोग जैसे मोटापा, मधुमेह, हृदय रोग, कैंसर रोगों पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया जाएगा। इसके अलावा संचारी रोग जैसे मौसमी बीमारियां, मातृ व शिशु स्वास्थ्य, टीकाकरण, किशोर स्वास्थ्य, वृद्धावस्था में स्वास्थ्य, नशामुक्ति, मिलावट पर रोक, प्रदूषण नियंत्रण तथा जनसंख्या स्थिरीकरण को भी इस अभियान में शामिल किया गया है।

निरोगी राजस्थान एप बनेगा

स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर जाकर स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं, स्वास्थ्य मित्रों के जरिए जागरूकता अभियान चलाएंगे। 'निरोगी राजस्थान एप व सिटीजन एप भी जारी किए जाएंगे। हर वर्ष 17 दिसंबर को अच्छा काम करने वाले डॉक्टरों व स्वास्थ्य मित्रों व कार्यकर्ताओं को सम्मानित करेंगे। बच्चों को खेलों से जोड़ने के लिए हर गांव में खेल के मैदान विकसित किए जाएंगे।

नेता प्रतिपक्ष का समर्थन

विस में हुई चर्चा में नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि जिस भावना के साथ इस अभियान को शुरू किया गया, उसका मैं स्वागत करता हूं। उन्होंने कहा कि प्रदूषण रोकने के लिए वृक्षारोपण को बढ़ावा दें और विधायक कोष से इसकी व्यवस्था की जाए।

कैंसर का गढ़ बना हनुमानगढ़

उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड ने कहा कि मैं स्वागत करता हूं कि सरकार निरोगी राजस्थान की अभिलाषा रखती है। अलवर में नकली मावा, दूध की नई मंडी बन गई है। इस पर ध्यान दिया जाए। राठौड ने कहा कि हरित क्रांति ने आत्मनिर्भर तो बना दिया है, लेकिन इसने हमें कई बीमारियां दे दी हैं। हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर कैंसर का गढ़ बन गया है।

भाजपा विधायक पारख बोले, बुरे कर्मों का फल है बीमारी

विस में चर्चा के दौरान भाजपा विधायक ज्ञानचंद पारख ने चौंकाने वाला बयान देते हुए कहा, 'कष्टदायक बीमारी व्यक्ति के पापों और बुरे कर्मों का फल होती है। बिना गलत काम और पाप किए गंभीर कष्टदायक बीमारी नहीं होती। हम गलत काम नहीं करें, किसी की बद्दुआ नहीं लें, यह हमें जागृति लानी होगी।'

यह भी पढ़ेंः राजस्थान विधानसभा सत्र समाप्त होते ही फिर शुरू होगा चुनावी माहौल

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस