जोधपुर, जेएनएन। Coronavirus. कोरोना वायरस को लेकर प्रशासनिक स्तर पर चल रही कार्रवाई में मंगलवार को एक बूथ लेवल ऑफिसर (बीएलओ) का अपहरण किए जाने का मामला सामने आया है। दो सगे भाइयों ने बीएलओ का बोलेरो कैंपर में अपहरण कर लिया। इसके बाद बीएलओ को गाड़ी से कूद कर अपनी जान बचानी पड़ी। पुलिस ने इस मामले में दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर लिया है।

जोधपुर के राजीव गांधी नगर थानाधिकारी जयकिशन सोनी ने बताया कि लॉकडाउन के बीच थाना क्षेत्र के पोपावास में बीएलओ ओमप्रकाश जाट की ड्यूटी लगी हुई थी। गांव मे रहने वाले दो भाइयों भगवानाराम व मोहनराम पुत्र बागाराम के बाहर से आने की जानकारी मिली। इस पर बीएलओ ओमप्रकाश जाट वहां पहुंचे। बताया गया कि ये दोनों भाई चितौड़गढ़ से आए हुए थे। उनके पास कागजी कार्रवाई के नोटिस थे। दोनों भाइयों ने पहले मारपीट की और कागजात को फाड़ डाला। मगर बाद में शाम को दोनों भाई एक बोलेरो कैंपर लेकर बीएलओ ओमप्रकाश के पास पहुंचे और अपहरण कर अपने साथ ले गए।

इस पर बीएलओ ने कैंपर गाड़ी से कूद कर अपनी जान बचाई। इस दौरान वे जख्मी भी हो गई। थानाधिकारी जयकिशन सोनी ने बताया कि बीएलओ की रिपोर्ट पर राजकार्य में बाधा उत्पन्न करने का केस दर्ज किया गया है। दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। गाड़ी बरामदगी के प्रयास भी चल रहे हैं। 

राजस्थान में मंगलवार को 14 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। इस तरह प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 93 पहुंच गई है। इनमें ईरान से एयरलिफ्ट कर लाए गए भारतीयों में कुल 17 कोरोना पॉजिटिव दो दिन में मिले हैं। इन लोगों को जैसलमेर और जोधपुर में सेना के आइसोलेशन सेंटर में रखा गया है। नए पॉजिटिव मिलने वालों में झुंझुंनूं, जयपुर, डूंगरपुर और अजमेर के एक-एक व्यक्ति शामिल हैं। प्रदेश में इन दिनों रोजाना कोरोना के पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं। इसी कारण इनकी संख्या बढ़ती जा रही है।

यह भी पढ़ेंः राजस्थान के साढ़े सात करोड़ लोगों की स्क्रीनिंग होगी

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस