जागरण संवाददाता, लुधियाना। पिता की मौत के बाद भेलपूरी बेच अपने  परिवार का खर्चा चला रहे 9 वर्षीय रंजोध सिंह जोधां अब पढ़ेगा। छोटी सी उम्र में दिनभर भेलपूरी बेचने वाले रंजोध के हाथ में अब किताबें होंगी। वह शहर के जमालपुर स्थित सीबीएसई स्कूल डीसीएम प्रेजीडेंसी में पढ़ाई करेगा। देश भर में जरूरतमंदों की मदद के लिए विख्यात अभिनेता सोनू सूद अब रंजोध की मदद को आगे आए हैं।

भेलपुरी बेचते रंजोध की वीडियो हुई थी वायरल

 शहर के सलेम टाबरी एरिया के रहने वाले रंजोध सिंह जोधा के पिता की कुछ महीने पहले मौत हो गई थी। इसके बाद उसने खुद मेहनत करने सोची। परिवार का खर्च उठाने का बीड़ा उठाया। पिछले छह महीने से रंजोध एरिया के पास पड़ते ठेके के बाहर भेलपूरी की रेहड़ी लगा रहा था। दिन के वह 300 रुपये तक कमा लेता था। पिछले दिनों से भेलपूरी बेच रहे इस बच्चे की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, जिसे अभिनेता सोनू सूद ने भी देखा और उसकी मदद के लिए हाथ बढ़ाया।

अभिनेता सोनू सूद ने इस कार्य के लिए लुधियाना में रह रहे दो दोस्तों करन गिल्होत्रा और अनिरुद्ध गुप्ता से फोन किया। अनिरुद्ध गुप्ता जोकि डीसीएम स्कूल के सीईओ है ने स्कूल प्रिंसिपल रजनी कालड़ा को पूरे मामले के बारे बताया और सलेम टाबरी में रह रहे रंजोध के परिवार से संपर्क करने की बात कही। इसके बाद परिवार को स्कूल आंमत्रित किया गया और रंजोध का स्कूल में दाखिला कर लिया गया। साथ में उसकी दोनों बहनों को भी स्कूल में पढ़ाने की बात कही। रंजोध की मां को भी स्कूल में ही नौकरी देने का आश्वासन दिया। 

सोनू सूद ने परिवार से की बात

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये रंजोध के परिवार से बातचीत करते हुए अभिनेता सोनू सूद।

सोनू सूद ने परिवार से खुद भी वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए बात कर भविष्य में मदद देने की बात कही है। इससे पहले मसीहा बने सोनू सूद कोविड काल में काफी लोगों की मदद कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें - Punjab: पुलिसकर्मी रेहड़ीवाले को बिना पैसे दिए आइसक्रीम ले भागा, इंटरनेट मीडिया पर वीडियो वायरल

 

Edited By: Pankaj Dwivedi