जेएनएन, जालंधर। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बुधवार को जिले के नकोदर में एक समारोह में छह जिले के 30 हजार से ज्यादा किसानों को ऋण माफी सर्टिफिकेट प्रदान किया। मुख्‍यमंत्री ने कहा कि किसानों के कर्ज की माफी के लिए पंजाब सरकार के पास धन की काेई कमी नहीं है।

नकाेदर में आयोजित कर्ज माफी समारोह में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि राज्‍य में लगातार भूजलस्‍तर में गिरावट चिंताजनक है। उन्‍होंने कहा कि सूबे में 13 लाख से ज्यादा ट्यूबवेल में से प्रारंभिक रूप में सिर्फ 900 ट्यूबवेल पर मीटर लगाए जा रहे हैं। ये मीटर इसलिए नहीं लगाया जा रहा है कि किसानों से पैसे वसूले जाएंगे। मीटर सिर्फ इस बात का अध्ययन करने के लिए लगाए जा रहे हैं कि गिरते हुए पानी को कैसे रोका जा सकता है।

नकोदर में आयोजित कर्जमाफी समारोह में मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह व अन्‍य नेता।

उन्‍होंने कहा कि मीटर को लेकर सरकारी वसूली के अकाली दल के लोगों द्वारा लगाए जा रहे आरोप पूरी तरह से निराधार हैं। मुख्यमंत्री ने कहा प्रारंभिक रूप से एक लाख 30 हजार किसानों को कर्जमाफी के लिए चुना गया है। इसके लिए एसडीएम स्तर पर सूचियां तैयार की जा रही हैं। जैसे-जैसे सूचना आती जाएंगी किसानों को कर्जमाफी सर्टिफिकेट वितरित कर दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कर्ज माफी के लिए सरकार के पास  पैसों की कोई कमी नहीं है।

यह भी पढ़ें: पंजाब में सस्‍ती होगी शराब, सरकार ने नई आबकारी नीति को दी मंजूरी

इस अवसर पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बादल परिवार पर भी निश्‍ााना साधा। उन्‍होंने बादल परिवार पर तंज कसते हुए कहा पंजाब में बादलों की बसों के लिए रोडवेज के नाम पर हो रही हेराफेरी बंद होने के बाद अब उन्होंने हिमाचल में अपनी बसें दौड़ाना शुरू कर दी हैं। वहां पर भाजपा की सरकार होने के कारण बादल परिवार फायदा उठाएगा। पंजाब में बादल परिवार को लूटने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

नकोदर में आयोजित कर्जमाफी समारोह में मौजूद लोग।

इस मौके पर उन्‍होंने नकोदर व शाहपुर क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए 150 करोड़ रुपए की ग्रांट देने का भी ऐलान कर दिया। इस मौके पर राज्य के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने कहा आर्थिक संकट के बावजूद जिस प्रकार से कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार ने किसानों को कर्ज माफी सर्टिफिकेट देने शुरू किए हैं इससे प्रदेश के दूसरे छोटूराम कहे जा सकते हैं।

यह भी पढें: बाजवा का फिर कैप्टन अमरिंदर पर हमला, कहा- सलाहकारों की फौज की जरूरत नहीं

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!