जासं, जालंधर। लगभग दस दिन तक राहगीरों को परेशानी की हालत में रखने के बाद आखिरकार शुक्रवार को जालंधर-पानीपत हाईवे से बरसाती पानी की निकासी के लिए काम शुरू करवा दिया गया। भूर मंडी के सामने मशीन लगाकर खुदाई करवा कर सफाई करवाई जा रही है ताकि हाईवे पर पानी को निकाला जा सके। दैनिक जागरण की तरफ से भी हाईवे और सर्विस लेन पर वाटर लॉगिंग की वजह से हो रही परेशानी संबंधी प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किए जा रहे थे।

पीएपी और रामा मंडी चौक के बीच सर्विस लेन के किनारे बारिश का पानी बीते कई दिन से जमा है। इस वजह से शहर से बाहर निकलने वाले ट्रैफिक एवं रामा मंडी से शहर के भीतर प्रवेश करने वाले ट्रैफिक को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 

बरसात से पहले सफाई न करवाने से शुरू हुई समस्या 

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) की तरफ से बरसात शुरू होने से पहले सफाई न करवाए जाने के चलते ही वाटर लॉगिंग की समस्या उत्पन्न हुई है। हालांकि बीते वर्ष ही पीएपी से लेकर रामा मंडी चौक के मध्य ड्रेन को अंडरग्राउंड बनाने के लिए कंक्रीट के पाइप डाले गए थे। पीएपी चौक में तो बकायदा तौर पर पानी की निकासी के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम स्थापित किए गए थे। इतनी कवायद के बावजूद भी मामूली बारिश होने के बाद पीएपी चौक में पीएपी परिसर की बाउंड्री वॉल के साथ बरसात का पानी  कई दिन तक खड़ा रहता है। सर्विस लेन और हाईवे के किनारे दोनों तरफ भी बरसात का पानी निकल नहीं पाता है।

यह भी पढ़ें - Pet Care in Monsoon: डॉगी के लिए सबसे मुश्किल बरसाती सीजन, बढ़ रहे हाई फीवर के मामले

यह भी पढे़ं - पटियाला में बुजुर्ग मां ने बेटे, बहू व पोती पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- मारपीट कर पिलाया पेशाब, घर से निकाला

 

Edited By: Pankaj Dwivedi