जागरण संवाददाता, जालंधर। Jalandhar Covid Cases Update जालंधर में कोरोना के मरीजों की संख्या में तेजी से गिरावट के चलते मंगलवार को 56 दिन बाद एक भी मरीज पाजिटिव नहीं पाया गया। इससे पहले 17 अगस्त को भी कोई पाजिटिव नहीं आया था। इससे लोगों ने राहत की सांस ली। वहीं कोरोना से किसी मरीज की मौत नहीं हुई। तीन मरीज कोरोना से जंग जीत कर घर पहुंचे। सिविल सर्जन डा. बलवंत सिंह का कहना है कि पिछले करीब साढ़े दस माह से वैक्सीन की 21 लाख के करीब डोज लगने से कोरोना का खतरा काफी हद तक टला है।

छह लाख के करीब लोग दोनों डोज लगवा चुके हैं। इसके अलावा लोगों में काफी जागरूकता हो गई है। मुंह पर मास्क लगाना, दो मीटर की दूरी और बार-बार साबुन से हाथ धोने जैसी सावधानियां भी मरीजों की संख्या शून्य करने में सहायक सिद्ध हुई है। वहीं विभाग की ओर से नाके लगा कर संदिग्ध लोगों के सैंपलों की जांच करवाने से भी मरीजों की संख्या कम हुई है।

यह भी पढ़ें-  Durga Ashtami 2021 : जालंधर में अष्टमी पर घर-घर हुआ कंजक पूजन, मंदिरों में भी रही रौनक

त्योहारों में कम हुई वैक्सीन लगवाने वालों संख्या

जालंधर में नवरात्र के साथ ही त्योहारों का सीजन शुरू होते ही लोग व्यस्त हो गए हैं। इसके साथ ही वैक्सीन लगवाने वालों की संख्या में तेजी से गिरावट दर्ज होने लगी है। मंगलवार को जिले में केवल 4260 लोगों को ही वैक्सीन लगी। मंगलवार को देर रात 60 हजार कोविशील्ड की डोज पहुंची है। जिला टीकाकरण अधिकारी डा. राकेश कुमार चोपड़ा ने कहा कि ज्यादातर लोगों की दूसरी डोज लगवाने के लिए 84 दिन के अंतराल का समय पूरा नहीं हुआ है। जिले में 90 फीसद के करीब लोग पहली डोज लगवा चुके हैं। बुधवार को सेंटरों में वैक्सीन लगेगी।

यह भी पढ़ें-  Arvind Kejriwal Jalandhar Visit: जालंधर में अरविंद केजरीवाल ने श्री देवी तालाब मंदिर में टेका माथा, आज उद्योगपतियाें से मिलेंगे

Edited By: Vinay Kumar