जागरण संवाददाता, अमृतसर। Fire In Amritsar: ट्रांसफार्मर में धमाका होने की वजह से गुरु नानक देव अस्पताल में आग लगी है। यह ट्रांसफॉमर्स एक्स-रे यूनिट की बैक साइड में रखा था। आग तेजी से फैलती चली गई। आनन-फानन में अस्पताल की विभिन्न वार्डों में उपचाराधीन 600 से अधिक मरीजों को बाहर निकाला गया। इस दौरान ऑपरेशन थियेटर में डाक्टर मरीज सर्जरी भी कर रहे थे। आग लगने के बाद मरीज में डॉक्टर बाहर निकले। इस घटना में एक कर्मचारी का स्कूटर भी जल गया है। सभी मरीजों को बाहर निकाल कर सड़क पर लाया गया। अस्पताल में फंसे कुछ मरीजों को बाहर निकालने के लिए खिड़कियां भी तोड़ी गई, क्योंकि धुआं बहुत ज्यादा था।

दोपहर 2:00 बजे की घटना

घटना दोपहर 2:00 बजे के करीब गुरु नानक देव अस्पताल में हुई। शनिवार होने के कारण ओपीडी में मरीज नहीं थे, लेकिन अस्पताल में 650 के करीब मरीज भर्ती हैं। ओपीडी के पिछली ओर और एक्स-रे यूनिट के पास दो ट्रांसफार्मर लगे हैं। इनसे पूरे अस्पताल को बिजली सप्लाई हो रही है। दोपहर के समय इन ट्रांसफार्मरों में अचानक ब्लास्ट हुआ और आग लग गई। आग की लपटें काफी ऊपर तक गईं। ट्रांसफार्मरों के बिल्कुल ऊपर स्किन वार्ड है। धुंआ इतना ज्यादा था कि वार्ड के मरीजों को तुरंत बाहर निकालना पड़ा।

अमृतसर के गुरु नानक देव अस्पताल में लगी आग काे बुझाते दमल कर्मी। (जागरण)

धुएं के कारण मरीजों को सड़कों पर लाया गया

आग ट्रांसफार्मरों पर लगने के कारण पूरे अस्पताल में धुआं फैल गया। मरीजों का धम घुटने लगा। इसके बाद सभी मरीजों को अस्पताल से बाहर सड़क पर लाया गया। एकदम मची भगदड़ के कारण कई मरीजों को खिड़कियां तोड़ बाहर निकाला गया। गाैरतलब है कि शहर में गर्मी के कारण आगजनी की घटनाएं लगातार बढ़ रही है। इन घटनाओं में प्रशासन की नाकामी भी सामने आ रही है।

यह भी पढ़ें-Punjab Politics: जाखड़ के समर्थन में उतरे नवजाेत सिद्धू, कहा- कांग्रेस को नहीं गंवाना चाहिए बेशकीमती नेता; गुरु पर भी लटकी है कार्रवाई की तलवार

Edited By: Vinay Kumar