जागरण संवाददाता, जालंधर। पंजाब कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बनने के बाद नवजोत सिंह सिद्धू पहली बार जालंधर पहुंचे। उनके पहुंचने से पहले कांग्रेस भवन में काफी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता व सभी छह विधायक पहुंचे हुए थे। उन्होंने अपने भाषण में कांग्रेस कार्यकर्तओं का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि वह जो कुछ भी हैं वर्करों की बदौलत हैं। सभी मिलकर अगले नहीं बल्कि अगली पीढ़ी के लिए चुनाव की तैयारी करनी होगी। इससे पहले, जैसे ही सिद्धू कांग्रेस भवन में दाखिल हुए उनसे मिलने के लिए नेताओं और वर्करों में होड़ लग गई। धक्का-मुक्की में कांग्रेस भवन का गेट तक टूट गया। हालांकि सिद्धू शुरुआत में चुनिंदा लोगों से ही मिल रहे हैं। यहां तक कि सिद्धू के कांग्रेस भवन के अंदर जाने पर विधायक तक बाहर बैठे नजर आए।

पूर्व मंत्री अवतार हैनरी के अलावा कांग्रेस विधायक पहुंचे

कांग्रेस भवन में सिर्फ उन्हीं लोगों को एंट्री दी जाएगी जिनका नाम नवजोत सिंह सिद्धू से मिलने वाले लोगों की सूची में है। नवजोत सिंह सिद्धू मंडल प्रधानों फ्रंटल ऑर्गेनाइजेशन के प्रधानों और चेयरमैन जिला परिषद मेंबर समेत कुछ चुनिंदा नेताओं से मिलेंगे। कांग्रेस भवन में विधायक परगट सिंह के अलावा कांग्रेस के अन्य विधायक बावा हैनरी, राजिंदर बेरी, सुशील रिंकू, शाहकोट के विधायक हरदेव सिंह लाडी शेरोवालियां भी मौजूद हैं।

नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस भवन के अंदर जाने पर बाहर बैठे हुए विधायक।

दौरे को लेकर सुरक्षा के कड़े इंतजाम

पंजाब कांग्रेस के नए अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के प्रधान बनने के बाद जालंधर के पहले दौरे को लेकर कांग्रेस भवन में तैयारियां पूरी की हैं। पुलिस ने भी कांग्रेस भवन और डीसी ऑफिस रोड पर सुरक्षा कड़ी कर दी है। कचहरी चौक से डीसी ऑफिस की तरफ ट्रैफिक रोक दिया गया था। तहसील कांप्लेक्स पर तीन जगह नाकाबंदी की गई है जिससे लोगों को आवाजाही में मुश्किल आ रही है। कचहरी चौक एनआरआइ भवन ऑफिस और पुराने पासपोर्ट ऑफिस के पास बैरीगेटिंग करके ट्रैफिक को डायवर्ट किया गया है। 

सिद्धू से मिलने आए कांग्रेसी मायूस होकर लौटने लगे।

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष ने विधायकों, मेयर, पार्टी के ब्लाक प्रधान, यूथ कांग्रेस, महिला कांग्रेस, जिला परिषद मेंबर और पुराने सीनियर नेताओं के साथ मीटिंग की योजना तय की है। बताया जा रहा है कि शहर और देहात के करीब 150 नेताओं से सिद्धू मुलाकात करेंगे। इनमें से कुछ नेताओं से सिद्धू वन टू वन मुलाकात करेंगे। वह शहर में कांग्रेस की स्थिति और आगामी चुनाव को लेकर फीडबैक लेंगे। वह नई टीम के गठन को लेकर भी आकलन कर रहे हैं। अभी जिला प्रधानों की नियुक्ति भी होनी है। नवजोत सिंह सिद्धू फिलहाल दिल्ली में बताए जा रहे हैं, लेकिन उम्मीद है कि वह देर रात वापस लौटने के बाद जालंधर में तय समय पर पहुंच जाएंगे।

सिद्धू के आगमन को लेकर चप्पे-चप्पे पर मुस्तैद नजर आई पुलिस

कांग्रेस के नवनिर्वाचित पंजाब प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू के आगमन को लेकर जालंधर पुलिस चप्पे-चप्पे पर मुस्तैद नजर आई। कांग्रेस प्रधान के आगमन के मद्देनजर डीसी दफ्तर से लेकर कांग्रेस भवन तक पुलिस का लाव लश्कर तैनात नजर आया जिसके लिए डीसी दफ्तर से लेकर कांग्रेस भवन तक पुलिस की तैनाती की गई है। इसके साथ ही शहर के अलग-अलग चौक पर भी पुलिस मुलाजिम तैनात नजर आए। इस दौरान कई थानों की पुलिस के साथ साथ अतिरिक्त पुलिस बल भी सिद्धू के जालंधर दौरे के मद्देनजर मौके पर तैनात नजर आया।

स्ट्रीट वेंडर्स की दुकानदारी हुई चौपट

सिद्धू के दौरे को लेकर स्ट्रीट वेंडर्स की दुकानदारी चौपट हो गई। पुलिस की टाइट सुरक्षा के चलते आम लोगों को भी डीसी दफ्तर के सामने रोजाना लगने वाली रेड़ियों की तरफ नहीं जाने दिया जा रहा है जिसके चलते कुछ घंटे तक जब तक की सुरक्षा व्यवस्था नहीं हटाई जाती तब तक उनका कारोबार भी चौपट रहेगा।

यह भी पढ़ें - Navjot Sidhu ने कैप्टन सरकार को चेताया, बोले- हाईकमान का 18 सूत्रीय फार्मूला हर हाल में कराएंगे लागू, रोड़ा बनने वाला बर्दाश्त नहीं

 

Edited By: Vinay Kumar