फतेहगढ़ साहिब, [धरमिंदर सिंह]। पंजाब में आयुष्मान भारत (सरबत स्वास्थ्य बीमा योजना) में फर्जीवाड़ा उजागर होने के बाद नए कदम उठाए गए हैं। इस मामले में पंजाब सरकार के हरकत में आते ही स्टेट हेल्थ एजेंसी भी रोजाना सिस्टम में नए सुधार कर रही है। फर्जी कार्डों को रद करने की प्रक्रिया के साथ ही जिले के सभी 130 कॉमन सर्विस सेंटर की आइडी बंद कर दी गई। स्वास्थ्य मंत्री बलवीर सिंह सिद्धू के निर्देशों पर नई शर्तों के साथ आइडीज लॉग-इन होंगी। यही नहीं, अब यदि किसी कॉमन सर्विस सेंटर से फर्जी कार्ड बना तो उसके संचालक के खिलाफ स्टेट हेल्थ एजेंसी सीधे एफआइआर भी दर्ज करवाएगी।

एक लाख कार्डों के रिव्यू के लिए स्टेट हेल्थ एजेंसी ने गठित की टीम

इससे पहले सिस्टम में यह तय नहीं था कि फर्जी कार्ड बनने पर कौन किसके खिलाफ क्या कार्रवाई करेगा। दैनिक जागरण की तरफ से मामले को प्रमुखता से उजागर करने पर सरकार के निर्देशों पर यह नया बदलाव किया गया है।स्टेट हेल्थ एजेंसी ने अब तक जिले में बने एक लाख से अधिक कार्डों का रिव्यू भी तेज कर दिया है। इसके लिए मोहाली मुख्यालय में एक विशेष टीम का गठन किया गया है, जो रिव्यू पूरा करेगी।

रिव्यू पूरा करने के बाद जिले के कॉमन सर्विस सेंटर चालू किए जाएंगे। एजेंसी के मैनेजर डॉ. संजीव जैन ने कहा कि आम लोगों को किसी प्रकार की दिक्कत न आए, इसलिए कोशिश है कि जल्द ही रिव्यू पूरा कराकर फर्जी कार्डों को रद किया जाए और नए सिरे से कार्ड बनाने का काम शुरू करवाया जाए। फर्जी कार्डों के मामले में दिनों-दिन नियम सख्त बनाए जा रहे हैं। भविष्य में बीमा योजना का फर्जी कार्ड बनना संभव ही नहीं होगा।

डीसी ने रोकी रिपोर्ट, उठे सवाल

फतेहगढ़ साहिब में बीमा योजना के तहत फर्जी कार्डों के मामले में डिप्टी कमिश्नर अमृत कौर गिल के पास भी शिकायत पहुंची थी। उस पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है। हालांकि, जिला मेडिकल अधिकारी डॉ. जगदीश अपनी जांच में भी 13 कार्ड फर्जी पा चुके हैं और इस जांच रिपोर्ट डीसी कार्यालय को दे चुके हैं, लेकिन डीसी ने इस पर अगली कार्रवाई रोकी हुई है।

यह भी पढ़ें: लघु उद्योग के लिए प्लॉट की आकार सीमा खत्म, सिनेमा घर होंगे मिनीप्लेक्स

डीसी गिल ने कहा कि उनके कार्यालय में रिपोर्ट आ चुकी है। आगे की कार्रवाई कर रहे हैं। उधर, भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राकेश गुप्ता व सरहिंद मंडल अध्यक्ष मनोज गुप्ता ने प्रशासन की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि सियासी दबाव में कार्रवाई रोकी गई है। इस गंभीर मामले की जांच सीबीआइ से करवाई जाए।

-------

75 फीसद आबादी को सेहत बीमा के दायरे में लाया गया : जाखड़

अबोहर : प्रदेश कांग्रेस प्रधान सुनील जाखड़ ने कहा कि सेहत बीमा योजना में राज्य की 75 फीसद आबादी (45 लाख परिवारों) कवर होती है। इनको पांच लाख रुपये तक के इलाज की सुविधा दी गई है। किसान, छोटे व्यापारी, कामगार, पत्रकार और राशन स्कीम के लाभार्थियों को सेहत बीमा का लाभ दिया गया है।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!