जेएनएन, चंडीगढ़। पंजाब सरकार ने नई खेल नीति में खिलाडियों के लिए कई उत्‍साहवर्द्धक प्रावधान किए हैं। सरकाी पदक जीतने वाले खिलाडिय़ों को सरकारी नौकरी न मिलने की सूरत में प्रतिमाह रोजगार भत्‍ता देने का फैसला किया गया है। ओलंपिक, कामनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स व विश्व कप में पदक जीतने वाले खिलाड़ी को नौकरी मिलने तक  प्रति माह 26,000 रुपये का भुगतान किया जाएगा। इसमें सालाना 10 फीसद की वृद्धि भी होगी।

खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढ़ी ने बताया कि  यह फैसला इसलिए भी लिया गया है कि सरकारी नौकरियों में स्पोट्र्स का कोटा तीन फीसद ही है। अगर यह कोटा फुल हो गया तो और खिलाड़ी को उनकी एजुकेशन के हिसाब से सरकार नौकरी देने में देर करती है तो उन्‍हें दिक्‍कत न हो। नौकरी के लिए खिलाड़ी के शैक्षिक योग्यता की शर्त में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

यह भी पढ़ें: दो यु‍वतियों में हुआ प्‍यार तो लिंग परिवर्तन करा शादी की, अब आई यह मुसीबत

11 अक्‍टूबर को होगा पदक विजेता खिलाडिय़ों का सम्मान

पंजाब सरकार ने 11 अक्टूबर को समारोह आयोजित करके एशियाई और राष्ट्रमंडल खेल पदक विजेताओं को सम्मानित करने का फैसला किया है। इन खिलाडिय़ों को नई नीति के तहत नकद पुरस्कार दिया जाएगा। मंत्री ने कहा कि चूंकि 1 अप्रैल से नई नीति पर काम शुरू हुआ था। इसलिए इससे पहले के चैंपियनशिप का भुगतान पूर्व निर्धारित राशि के रूप में ही किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: संघर्ष ने इस महिला को बना दिया फौलाद, दूसरों की पीड़ा हर जीत रही मन

पूर्व विजेताओं का सम्मान नवंबर में

मंत्री ने बताया कि नवंबर में लंबे समय से लंबित पूर्व विजेता खिलाडिय़ों का सम्मान किया जाएगा। इस समारोह में सम्मानित होने वाले 814 खिलाड़ी होंगे।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!