चंडीगढ़, [इन्द्रप्रीत सिंह]। पंजाब की राजनीति फिर गर्मा गई है और राजनीतिक दलों में घमासान मच गया है। इस बार माहौल बरगाड़ी में श्री गुरुग्रंथ साहिब की बेअदबी के मामले की जांच कर रही सीबीआई की ओर से दी गई क्लोजर रिपोर्ट पर गर्माया है। कांग्रेस ने इसके पीछे राजनीति साजिश का अंदेशा जताया है। कांग्रेस ने कहा  कि लगता है हरियाणा में चुनाव के चलते डेरा प्रेमियों को खुश करने के लिए किया गया है। दूसरी ओर, शिअद ने कांग्रेस पर पूरे मामले को लेकर सवाल उठाया है। आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस और शिअद दोनों पर हमला किया है।

हरियाणा के चुनाव के चलते सीबीआई ने दी क्लोजर रिपोर्ट, सीएम से करूंगा बात : रंधावा

शिरोमणि अकाली दल ने कहा कि जब सभी प्रमुख केसों की जांच सीबीआइ कर रही थी तो कांग्रेस नेता और कुछ पुलिस अधिकारी किस बलबूते इंटरव्यू देते हुए पर उछल रहे थे। शिअद ने कहा है कि अगर उनके पास सुबूत थे तो उन्होंने सीबीआइ को क्यों नहीं सौंपे? आम आदमी पार्टी ने कहा कि श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की घटनाओं में तीन जानें जा चुकी हैं लेकिन किसी भी जांच में अभी तक सच्चाई बाहर नहीं आई है। दोनों सरकारें इस पर अपनी राजनीति कर रही हैं।

शिरोमणि अकाली दल ने कहा- जब जांच सीबीआइ कर रही थी तो कांग्रेस नेता किस बलबूते पर उछल रहे थे

ऐसे में सीबीआइ की क्लोजर रिपोर्ट के बाद पंजाब में श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी घटनाओं का मुद्दा एक बार फिर से सुर्खियों में आ गया है। पार्टियों में सीबीआई की क्लोजर रिपोर्ट को लेकर ही चर्चाएं चल रही है। पंजाब के सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि उन्होंने आज ही (शनिवार को) अखबार में पढ़ा कि सीबीआइ ने क्लोजर रिपोर्ट दे दी है। चूंकि, मुख्य आरोपित मोहिंदर पाल बिट्टू की मौत हो चुकी है, उसमें तो वह दे सकते थे लेकिन बाकी तीन के खिलाफ क्यों दी? यह निंदनीय है और इसके पीछे साजिश हो सकती है।

यह भी पढ़ें: मां हो गई निर्दयी, पांच साल की बेटी को टंकी में फेंक देखने गई- मरी की नहीं, अब भुगत रही ऐसा अंजाम

उन्होंने कहा कि हरियाणा में चुनाव हैं, लगता है कि डेरा प्रेमियों को खुश करने के लिए ऐसा किया गया है लेकिन उन्हें यह नहीं भूलना चाहिए कि जिन लोगों ने श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की, उनके दिलों को कितना आघात पहुंचा है?

तथ्यों की जांच किए बिना प्रतिक्रिया देना सही नहीं: डॉ चीमा

शिरोमणि अकाली दल के उपप्रधान और मुख्य प्रवक्ता डॉ. दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि तीनों प्रमुख केस हमारी सरकार के समय में ही सीबीआई को सौंप दिए गए थे। उन्होंने अपनी किस जांच के आधार पर क्लोजर रिपोर्ट दी है, जब तक उसके तथ्य सामने नहीं आते इस पर कोई प्रतिक्रिया देना सही नहीं है। मेरा सवाल कांग्रेस से यह है कि उनके मंत्री सुखजिंदर रंधावा और कुछ पुलिस अधिकारी इस मामले में मीडिया में लंबी-लंबी इंटरव्यू दे रहे थे कि उनके पास सुबूत हैं। अगर उनके पास सुबूत थे तो उन्होंने सीबीआइ को ये क्यों नहीं सौंपे? रंधावा को इस मामले में माफी मांगनी चाहिए। डॉ. चीमा ने कहा कि श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की सच्चाई सामने आनी चाहिए।

तीन जानें गईं, लेकिन सच्चाई नहीं आई सामने: अमन अरोड़ा

आम आदमी पार्टी के नेता अमन अरोड़ा ने कहा कि श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के मामले तीन जानें जा चुकी हैं लेकिन अब तक सच्चाई सामने नहीं आई है। उन्होंने कहा कि पहले दो सिख युवाओं की जान गई और उसके बाद मोहिंदरपाल बिट्टू की हत्या हो गई। इंसानी जान की कोई कीमत नहीं है।

यह भी पढ़ें: अद्भुत है यह प्रेम कहानी, जानें कैसे डेनमार्क की बाला बन गई पंजाबी युवक की 'हीरो'

उन्होंने कहा कि पंजाब में चाहे अकाली भाजपा सरकार हो या फिर कांग्रेस सरकार, सभी आम लोगों की भावनाओं के साथ खेलकर वोट की राजनीति कर रहे हैं। अमन अरोड़ा ने कहा कि उनका इरादा किसी को क्लीन चिट देने या दोषी करार देने का नहीं है, बस सरकार से एक सवाल है कि जनता के असली मुद्दों को हल करने की बजाए उन्हें धार्मिक मुद्दों में ही क्यों उलझाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: बरगाड़ी बेअदबी मामले में सीबीआइ ने पेश की क्लोजर रिपोर्ट, तेज होगी राजनीति

उन्होंने कहा कि पंजाब में बिजली, ड्रग्स समेत कई मुद्दे हैं लेकिन पिछले अढ़ाई साल से बेअदबी के मुद्दे पर सियासत करते आ रहे हैं। असली दोषियों को पकडऩे में वे देरी क्यों कर रहे हैं? अमन अरोड़ा ने कहा कि क्लोजर रिपोर्ट से साफ जाहिर है कि चार साल से बेअदबी का मुद्दा वहीं खड़ा है, अब तक कोई दोषी नहीं पकड़ा गया। क्लोजर रिपोर्ट से साफ है कि सीबीआई भी इस मसले को हल नहीं कर पाई

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!