Move to Jagran APP

Amritpal Singh: 'अमृतपाल की गिरफ्तारी की अफवाह पर न करें विश्वास', पंजाब पुलिस ने की लोगों से अपील

Amritpal Singh भगोड़ा अमृतपाल गिरफ्तार हुआ है या नहीं इसको लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं। इसी बीच शनिवार को पंजाब पुलिस ने लोगों से अपील की है कि अमृतपाल को गिरफ्तार किए जाने की किसी भी खबर पर विश्वास न करें।

By Swati SinghEdited By: Swati SinghPublished: Sat, 25 Mar 2023 08:54 PM (IST)Updated: Sat, 25 Mar 2023 08:54 PM (IST)
अमृतपाल की गिरफ्तारी की अफवाह पर नहीं करें विश्वास

चंडीगढ़, एएनआई। भगोड़े अमृतपाल सिंह की गिरफ्तारी को लेकर लगातार सवाल उठ रहे हैं। कोई दावा कर रहा है कि अमृतपाल गिरफ्तार किया जा चुका है, तो कभी अमृतपाल के कुरुक्षेत्र और पटिलाया में होने की सीसीटीवी फुटेज लगातार सामने आ रही है। इसी बीच अमृतपाल की गिरफ्तारी को लेकर शनिवार को पंजाब पुलिस ने सभी कयासों पर विराम लगा दिया है।

पंजाब पुलिस ने शनिवार को लोगों से कट्टरपंथी खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह की गिरफ्तारी की अफवाहों और फर्जी खबरों पर विश्वास न करने की अपील की। गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर लगातार अमृतपाल की गिरफ्तारी के दावे किए जा रहे हैं।

अफवाह पर न दें ध्यान

शनिवार को एक प्रेस ब्रीफिंग में बठिंडा के एसएसपी गुलनीत खुराना ने कहा कि हम लोगों से आग्रह करते हैं कि अमृतपाल सिंह की गिरफ्तारी की फर्जी खबरों पर विश्वास न करें, जो सोशल मीडिया पर व्यापक रूप से प्रसारित की जा रही हैं। उन्होंने यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा में स्थित "अफवाह फैलाने वालों" पर नकली रिपोर्टिंग का आरोप लगाया।

एसएसपी ने कहा कि यूके, यूएस और कनाडा में बैठे कुछ लोग सोशल मीडिया पर झूठी खबर फैला रहे हैं कि अमृतपाल को (हिरासत में) प्रताड़ित किया जा रहा है। ऐसी खबरों पर लोग विश्वास न करें।

पंजाब में शांति बनाए रखना हमारी जिम्मेदारी

एसएसपी गुलनीत खुराना ने कहा कि पंजाब में सुरक्षा व्यवस्था को बनाए रखने के लिए सुरक्षाबल तैनात है। उन्होंने कहा कि शांति सुनिश्चित करने के लिए बठिंडा में पुलिस कर्मियों और बहादुरगढ़ के 140 सुरक्षाकर्मियों के साथ बीएसएफ की कंपनियों को वर्तमान में तैनात किया गया है।

उत्तराखंड में जारी है अलर्ट

अमृतपाल सिंह को लेकर पंजाब के साथ-साथ उत्तराखंड में भी अलर्ट जारी कर दिया है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) वी मुरुगेसन ने शनिवार सुबह बताया कि खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह के राज्य में प्रवेश करने की आशंका को लेकर उत्तराखंड में अलर्ट जारी किया गया है।

मुरुगेसन ने कहा कि उन्हें पंजाब पुलिस से इनपुट मिला था कि खालिस्तान समर्थक और वारिस पंजाब दे का प्रमुख अमृतपाल कार्रवाई के बाद पंजाब से भाग गया था। पंजाब से फरार हुआ अमृतपाल हरियाणा से उत्तराखंड में प्रवेश कर सकता है, जिसको देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। उन्होंने कहा कि कई इलाकों में तलाशी ली जा रही है।

अमृतपाल के राज्य में घुसने की कोशिशों की खबरों के बीच शुक्रवार को उत्तराखंड के देहरादून, हरिद्वार और उधमसिंहनगर जिलों में अलर्ट जारी किया गया है।

जत्थेदार हरप्रीत सिंह ने पुलिस कार्रवाई पर उठाए सवाल

तलवंडी साबो। श्री अकाल तख्त साहिब के कार्यकारी जत्थेदार सिंह साहिब ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने पंजाब पुलिस पर आरोप लगाया कि इंटरनेट मीडिया पर पोस्ट डालने या शेयर करने वाले नौजवानों को भी पुलिस द्वारा उठाया जा रहा है। इसी तरह कई मीडिया कर्मियों के घरों में छापेमारी की जा रही है। कई लोगों के इंटरनेट अकाउंट बंद कर दिए गए हैं।

उन्होंने कहा कि यह सब बहुत ही निंदनीय है और यह विचारों को व्यक्त करने की आजादी के मिले अधिकारों का हनन हैं। पंजाब सरकार अमृतपाल के मामले में ठीक नहीं कर रही है।

शनिवार को अपने निवास पर पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए जत्थेदार हरप्रीत सिंह ने अमृतपाल सिंह के मामले में पुलिस को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि सिखों के मन में यह सवाल है कि इतनी पुलिस होने के बावजूद भाई अमृतपाल सिंह कैसे भाग सकता है। उन्होंने अमृतपाल के पुलिस हिरासत में होने की चल रही चर्चाओं पर राज्य सरकार को स्थिति स्पष्ट करने को कहा है।

अमृतपाल को कर देना चाहिए सरेंडर

जत्थेदार हरप्रीत सिंह ने अमृतपाल सिंह को भी नसीहत देते हुए कहा कि अगर वह गिरफ्त से बाहर हैं तो उन्हें तुरंत पुलिस के समक्ष पेश होना चाहिए। पंजाब सरकार और पंजाब पुलिस को इस मामले में संयम से काम लेना चाहिए। क्योंकि सिख नौजवानों ने इतना बड़ा गुनाह नहीं किया है, जितना बड़ा बनाकर पेश किया जा रहा है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.