जेएनएन, चंडीगढ़। कैबिनेट विस्तार के बाद पहले कामकाज वाले दिन पर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सभी नए बने 9 मंत्रियों को अपने आवास पर टी पार्टी दी। मुख्यमंत्री ने सभी मंत्रियों को परिवार समेत न्योता भेजा। इस दौरान कैप्टन ने सभी से सामूहिक और व्यक्तिगत रूप से भी मुलाकात की और उन्हें टिप्स भी दिए। वहीं, पहले दिन फूड एंड सप्लाई मंत्री भारत भूषण आशु और पीडब्ल्यूडी मंत्री विजय इंदर सिंगला ने ही अपने दफ्तर में बैठे।

मुख्यमंत्री ने सभी 9 नए बने मंत्रियों को पहले कामकाजी वाले दिन 'टी पार्टी' का न्योता दिया। महत्वपूर्ण बात यह रही कि मुख्यमंत्री ने सभी को परिवार समेत बुलाया था। तय समय पर सभी मंत्री मुख्यमंत्री आवास पर पहुंचे, जबकि इससे पहले सुबह करीब 10 बजे भारत भूषण आशु अपने दफ्तर पहुंचे और उन्होंने भगवान शंकर का जाप कर अपनी जिम्मेदारी संभाल ली। आशु मात्र कुछेक मिनट ही अपने दफ्तर में रहे और उसके बाद मुख्यमंत्री के आवास के लिए निकल पड़े।

कैप्टन ने पहले सभी लोगों के साथ एक साथ मुलाकात की और उसके बाद अलग-अलग सभी मंत्रियों से बात की। चूंकि सभी पहली बार मंत्री बने हैं इसलिए कैप्टन ने उनके टिप्स के साथ-साथ कांग्र्रेस और मैनीफेस्टों के एजेंडे पर काम करने के भी निर्देश दिए। इस दौरान कैप्टन ने 'भ्रष्टाचार मुक्त' प्रशासन पर सबसे ज्यादा जोर दिया। सूत्र बताते हैं कि कैप्टन इस लिए भी भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन पर जोर दिया क्योंकि कांग्र्रेस सरकार के पहले ही साल में एक मंत्री पर भ्रष्टाचार पर आरोप लगा था।

इसके कारण मुख्यमंत्री को राणा गुरजीत सिंह को अपनी कैबिनेट से हटाना पड़ा था। जबकि गाहे-बगाहे वित्तमंत्री मनप्रीत बादल पर उनके साले को लेकर भी आरोप लगते ही रहते है। यही कारण है कि मुख्यमंत्री ने भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन पर मंत्रियों को पाठ पढ़ाया, ताकि 2019 के चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस सरकार की छवि पर कोई गलत असर न पड़े।

सिंगला ने संभाला दफ्तर

पीडब्ल्यूडी मंत्री विजय इंदर सिंगला करीब 2.25 पर कांग्र्रेस के प्रदेश प्रधान सुनील जाखड़ व प्रभारी आशा कुमारी के साथ अपने दफ्तर पहुंचे। भारत भूषण आशु के बाद वह दूसरे मंत्री थे जिन्होंने पहले दिन अपना कामकाज संभाला। चूंकि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पहले ही कह दिया है कि मंगलवार को वह सभी मंत्रियों को उनकी कुर्सी पर बैठा कर आएंगे। इसलिए आशु और सिंगला के अलावा कोई भी मंत्री आज सचिवालय नहीं पहुंचा।

यह भी पढ़ेंविधायकों की नाराजगी दूर करने में कांग्रेस के आला नेताओं के छूट रहे पसीने

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!