अमृतसर [विपिन कुमार राणा]। 30 साल पुराने रोड रेज मामले में सुप्रीम कोर्ट से स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को राहत मिलने के बाद उनके घर होली सिटी स्थित निवास पर जश्न मना। इस दौरान सिद्धू की फैशन डिजाइनर बेटी राबिया सिद्धू ने पहली बार मीडिया से खुलकर बात की। अपने सियासत में आने पर राबिया ने कहा कि अगर पापा और मम्मी चाहेंगे कि मैं सियासत में आऊं तो पंजाब का भला करने के लिए जरूर आएगी।

राबिया ने कहा कि वह अपने पापा के बरी होने से वह बहुत खुश है। वह आज सुबह ही गुरुद्वारा साहिब और मंदिर में अरदास करके आई थी और भगवान शिव की कृपा से ही यह संभव हो सका है। वह ज्यूडीशरी की आभारी है जिसने सही को सही कहा और फैसला पापा के हक में आया। फैसला आने से पहले थोड़ी घबराहट हुई थी, पर मेरे पापा कहते है कि डरते तब हैं जब हमने कुछ गलत किया हो।

जश्न मनाता सिद्धू का परिवार व समर्थक।

राबिया ने कहा, 30 सालों में मेरे पापा ने कभी कुछ गलत नहीं किया। ईमानदारी पर सिद्धू को घेरने वालों पर राबिया ने कहा कि मैं उनके लिए बुरा नहीं चाहूंगी। परमात्मा उन्हें देखेगा। मेरे पापा ईमानदार है और निस्वार्थ होकर बिना किसी लालच के लोगों क सेवा कर रहे हैं। अपने सियासत में आने पर राबिया ने कहा कि अगर पापा और मम्मी चाहेंगे कि मैं सियासत में आऊं तो पंजाब का भला करने के लिए जरूर आएगी।

वहीं, सिद्धू की पत्नी व पंजाब वेयरहाउस कारपोरेशन की डायरेक्ट व चेयरपर्सन डॉ. नवजोत कौर सिद्धू ने कहा कि सिद्धू को कोर्ट द्वारा बरी किए जाने से उनका परिवार व समर्थक ही खुश नहीं है, बल्कि पंजाब के वह लोग भी खुश हैं। डॉ. सिद्धू ने कहा कि राजनीतिक साजिश के तहत नवजोत सिद्धू का नाम इसमें शामिल किया गया था। गवाह बदले गए और दो नए गवाह शामिल किए गए। सेलीब्रेटी होने के नाते सिद्धू का नाम इसमें शामिल किया गया, क्योंकि वह जानते थे कि उनका नाम शामिल होने से उन्हें थोड़े ज्यादा पैसे मिल जाएंगे। सुखबीर सिंह बादल परिवार ने इस केस को तूल थी।

यह भी पढ़ेंः बड़ी राहत पर भावुक हुए नवजोत सिद्धू, सुप्रीम कोर्ट से गैरइरादतन हत्‍या मामले में बरी

 

By Kamlesh Bhatt