जेएनएन, अमृतसर। अमृतसर के रामबाग थाने की पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म के आरोप में छह युवकों के खिला‌फ वीरवार की देर रात केस दर्ज किया है। मामले में पीड़िता फाजिल्का की बताई जा रही है, जो गुरुद्वारा बाबा दीप सिंह शहीदां साहिब में माथा टेकने के बाद बस अड्डेे पहुंची थी। वहीं युवती की युवराज नाम के युवक  से दोस्ती हो गई और वह उसे अटारी ले गया। बुधवार की रात छह युवकों ने उसे अपनी हवस का शिकार बनाया और सुबह बाइक से छेहरटा के पास इंडिया गेट छोड़कर फरार हो गए।

सब इंस्पेक्टर राजविंदर कौर ने बताया कि मामले की जांच करवाई जा रही है। पीड़िता का सरकारी अस्पताल में मेडिकल करवाया जाना बाकी है। आरोपितों की पहचान के लिए अटारी पुलिस से भी संपर्क किया जा रहा है। बस अड्डा और आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी निकलाई जानी है।

पीड़िता ने बताया कि मंगलवार को वह फाजिल्का से श्री दरबार  साहिब और बाबा शहीदां साहिब गुरुद्वारा के दर्शन करने अमृतसर पहुंची थी। उसी रात वह गुरुद्वारा साहिब परिसर में ही सो गई। बुधवार की सुबह वह दस बजे घर लौटने के लिए अमृतसर के बस अड्डा पर पहुंच गई। बस का इंतजार करते समय उसकी मुलाकात युवराज सिंह नाम के युवक से हो गई। बातों-बातों में दोनों में दोस्ती हो गई। वहीं एक दुकान से आरोपित ने उसे नए जूते भी उपहार के रूप में दिेए। इसके बाद आरोपित ने उसे भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय बार्डर दिखाने की बात कही। वह मान गई और उसके साथ बाइक पर  सवार हो गई।

युवती के मुताबिक रास्ते में युवराज ने अपने अन्य साथी गुरसेवक सिंह को भी साथ ले लिया। वहां रास्ते में आरोपित उसे प्रीत नगर नाम के इलाके में एक हवेली में ले गए। युवराज और गुरसेवक ने अपने चार साथी छोटू, कीपू, भिंदा और तार को भी वहां बुला लिया। सारी रात उसके साथ हवेली में आरोपितों ने दुष्कर्म किया। जब उसने विरोध किया तो आरोपितों ने उसे जान से मारने की धमकियां दी। वीरवार की सुबह गुरसेवक और युवराज उसे बाइक से इंडिया गेट के पास छोड़कर फरार हो गए। वह किसी तरह बस अड्डा पुलिस के पास पहुंची और घटना के बारे में जानकारी दी।

यह भी पढ़ें : वालिंटर के रूप में पहुंचे हरियाणा के मंत्री अनिल विज, अंबाला में लगवाया कोवैक्सीन का परीक्षण टीका

यह भी पढ़ें : कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत किसान संगठनों से बातचीत करेंगे पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह

यह भी पढ़ें : Exclusive Interview: पंजाब भाजपा अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने बताई पार्टी की रणनीति, अपने दम पर कूदेंगे चुनाव मैदान में

यह भी पढ़ें : कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन का खामियाजा भुगतता पंजाब, कारोबारी ही नहीं, खुद किसान भी परेशान