अमृतसर, [नितिन धीमान]। पंजाब में एक और कोरोना याेद्धा ने इस महामारी को मात दी है। हाेशियारपुर के गांव गांव पैंसरा के रहने वाले 58 वर्षीय हरजिंदर सिंह ने कोविड-19 (COVID-19) को शिकस्त देकर जिंदगी की जंग जीत ली। अपनी जीत पर वह कहते हैं ''परमात्मा के नाम सुमिरन और वाहेगुरु के जाप में असीम शक्ति है। जीवन और मरण उसके हाथ है। मुझे परमात्मा के नाम सुमिरन ने सकारात्मक शक्ति दी, जिससे मैं कोरोना से मुक्ति पा गया।' 

होशियारपुर के हरजिंदर सिंह ने जीती कोरोना से जंग, अस्पताल से मिली छुट्टी

18 दिनों से गुरु नानक देव अस्पताल स्थित आइसोलेशन वॉर्ड में रहकर उन्होंने जिंदादिली से इस रोग से खुद को मुक्त किया। इच्छाशक्ति और परमात्मा पर अटल विश्वास तो था ही, डॉक्टरों की काउंसलिंग व सहानुभूति व्यवहार भी संजीवनी साबित हुआ।

कोविड-19 निगेटिव होने के पश्चात हरजिंदर सिंह ने कहा कि 2 अप्रैल को जब पता चला कि मैं इस खतरनाक बीमारी की जद में आ चुका हूं, तो घबराहट हुई। आइसोलेशन वॉर्ड में एकांत रहकर सुबह-शाम परमात्मा का नाम जपता रहा। नित्य नेम व सुखमणि साहिब का पाठ करने से मुझे असीम बल मिला। मन से नकारात्मक विचार ओझल होते चले गए।

हरजिंदर सिंह ने कहा, सुबह शाम नित नेम का पाठ करता था, मन में नकारात्मक विचार नहीं आने दिया

वह कहते हैं, डॉक्टरों ने पूरा सहयोग दिया। हाई प्रोटीन डाइट मिलती रही। पत्‍नी, बेटा व बहन लगातार फोन पर संपर्क में रहते। गांव का भाईचारा भी कुशलक्षेम पूछता रहता। अस्पताल में घर जैसा माहौल मिला। आज स्वस्थ हो चुका हूं। सुबह जब डॉक्टर ने यह खुशखबरी सुनाई तो सबसे वाहेगुरु का शुकराना किया।

---

कैसे हुए कोरोना पॉजिटिव

हरजिंदर सिंह को आज तक यह जानकारी नहीं मिली कि आखिर वे कोरोना पॉजिटिव कैसे हुए। उनके अनुसार 13 मार्च को मेरी बहन इंग्लैंड से दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंची थी। मैं दिल्ली एयरपोर्ट पर उसे रिसीव कर घर ले आया। चूंकि वह इंग्लैंड से आई थी, इसलिए स्वास्थ्य विभाग ने उनका सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा। रिपोर्ट निगेटिव आई। 29 मार्च को मुझे सांस लेने में तकलीफ हुई।

वह बताते हैं, होशियारपुर सिविल अस्पताल गया। डॉक्टरों ने हिस्ट्री पूछी तो बहन के बारे में बताया। मुझे एडमिट कर लिया गया। तीन दिन यहां रखकर मुझे गुरुनानक देव अस्पताल अमृतसर रेफर कर दिया गया। 2 अप्रैल को अस्पताल के स्टाफ ने बताया कि आपको कोरोना है। मैं न कभी विदेश नहीं गया। खेतीबाड़ी करता हूं। पैंसरा गांव में सर्विस स्टेशन भी चलाता हूं। फिर न जाने यह सब कैसे हो गया। मेरी पत्नी, बेटा व परिवार के सभी सदस्यों की टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई थी।

---

होशियारपुर के ही गुरदेव भी कोरोना को दे चुके हैं मात

मेडिकल कॉलेज गुरुनानक देव अस्पताल की प्रिंसिपल डॉ. सुजाता शर्मा ने कहा कि अमृतसर में होशियारपुर के दो मरीज ठीक हुए हैं। हरजिंदर सिंह से पहले होशियारपुर के ही 52 वर्षीय गुरदेव सिंह स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर जा चुके हैं। हरजिंदर सिंह को एंटी बायोटिक दवाएं, हाइड्रोक्लोरोक्वीन व एंटी वायरल ड्रग दी गईं।

----------------------

भारतीय मूल के 260 एनआरआइ लंदन लौटे

ब्रिटिश एयरवेज की स्पेशल फ्लाइट से शनिवार को 260 एनआरआइ श्री गुरु रामदास जी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से लंदन के लिए रवाना हुए। एयरपोर्ट डायरेक्टर मनोज चंसोरिया ने बताया कि इंग्लैंड सरकार ने कोरोना वायरस के चलते यहां फंसे अपने नागरिकों को लाने के लिए ब्रिटिश एयरवेज की फ्लाइट खास तौर पर शनिवार को भारत भेजी। इससे पहले शुक्रवार को भी ब्रिटिश एयरवेज की फ्लाइट के जरिए 262 एनआरआइ लंदन रवाना हुए थे।

यह भी पढ़ें: हरियाणा में औद्योगिक गतिविधियां चालू करने का खाका तैयार, जानें किन क्षेत्रों में खुलेंगी फैक्‍टरियां


यह भी पढ़ें: Coronavirus से लुधियाना के एसीपी कोहली शहीद, प्लाज्‍मा थैरेपी की थी तैयारी, पत्‍नी भी पॉजिटिव

 

 

यह भी पढ़ें: कोरोना पर केंद्र की सूची: Red zone में हरियाणा के 6 जिले, 4 बड़े प्रकोप वाली श्रेणी में, देखें लिस्‍ट

 

यह भी पढें: रेलवे ने रचा इतिहास, 88 डिब्बों की अन्नपूर्णा ट्रेन ने 50 घंटे से कम में तय किया 1634 किमी

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें
 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!