चंडीगढ़, जेएनएन/एएनआइ। सीआइडी पर विवाद का बुधवार देर रात को पटाक्षेप हो गया। पूरे प्रकरण में आखिरकार मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल की जीत हुई है। राज्‍य के गृहमंत्री अनिल विज से सीआइडी को वापस ले लिया गया है। अब सीआइडी की रिपोर्टिंग मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल को ही होगी। ये पूरा घटनाक्रम दिल्ली से अंजाम दिया गया। पूरे मामले पर विज ने बृहस्‍पतिवार को कहा कि मुख्‍यमंत्री सर्वोच्‍च हैं और वह किसी मंत्री से कोई विभाग वापस ले सकते हैं या कोई विभाग दे सकते हैं।

दिल्‍ली में भाजपा आलाकमान के समक्ष देर रात हुआ फैसला, मनोहर सरकार का गतिरोध हुआ समाप्‍त

खास बात यह है कि बुधवार को सीआइडी के एसपी स्तर के एक अधिकारी ने विज को ब्रीफिंग की थी। इसके बाद अनिल विज के तेवर भी नरम पड़ गए थे। यही नहीं, सरकार ने विज के विरोध के कारण वी उमाशंकर को लोकल बॉडीज डिपार्टमेंट के अतिरिक्त मुख्य सचिव पद से भी हटा दिया। इसे विज की बड़ी जीत माना जा रहा था।

बुधवार को विधानसभा में विधायकों के ट्रेनिंग प्रोग्राम में लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला बतौर मुख्य अतिथि आए थे। इस प्रोग्राम के बाद सीएम नई दिल्ली रवाना हो गए थे। सीएम दिल्ली में पिछले तीन दिन से लगातार जा रहे हैं। दिल्ली से जुड़े सूत्रों का कहना है कि सीएम ने बुधवार को भी नई दिल्ली में पार्टी के आला नेताओं के साथ मीटिंग की। दो दिन पहले पार्टी के नए प्रधान जेपी नड्डा की ताजपोशी के बाद भी सीएम दिल्ली गए थे। उस दिन गृह मंत्री अनिल विज ने भी नड्डा से मुलाक़ात की थी। सूत्रों का कहना है कि सीएम पार्टी हाईकमान को इस पूरे मामले में विश्वास में लेने में सफल रहे हैं।

बताते हैं कि सीएम मनोहरलाल ने दिल्ली में पार्टी के नेताओं से बातचीत होने के बाद ही चंडीगढ़ में अपने अधिकारियों को डिपार्टमेंट अलॉटमेंट का नोटिफिकेशन जारी करने के आदेश दिए। इसलिए मुख्य सचिव की ओर से देर रात विज से सीआइडी लेकर सीएम को दिए जाने का ऑर्डर जारी हुआ।

अब यह देखना रोचक होगा कि इस पूरे मामले में विज का अगला क्या स्टैंड रहता है। विज यह संकेत पहले ही दे चुके हैं कि सीआइडी जाने के बाद वह गृह विभाग भी छोड़ सकते हैं। उनका मानना है कि बिना सीआइडी के गृह विभाग बिना आंख, नाक और बिना कान के आदमी जैसा है.

परिवहन मंत्री मूल चंद शर्मा को मिला चुनाव विभाग,  कला एवं सांस्कृतिक मामले विभाग कंवर पाल को

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सीआइडी, राजभवन मामलों और कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभागों को अपने पास रखा है। परिवहन मंत्री  मूल चंद शर्मा को चुनाव विभाग आवंटित किया गया है। कला एवं सांस्कृतिक मामलों का विभाग अब शिक्षा मंत्री कंवर पाल को उनके मौजूदा विभागों के अलावा आवंटित किया गया है । पहले यह महकमा परिवहन मंत्री मूल चंद शर्मा को आवंटित किया गया था।

विज बोल- सीएम को किसी मंत्री से विभाग वापस लेने या देने का पूरा हक

सीआइडी वापस लिए जाने पर गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि यह मुख्‍यमंत्री का अधिकार है। बृहस्‍पतिवार को विज ने कहा, ' मैंने हमेशा कहा है कि मुख्यमंत्री सर्वोच्च है और वह जब चाहे अपने मंत्रियों से कोई भी विभाग ले सकते हैं या कोई विभाग दे सकते हैं। मैं केवल यह मांग कर रहा था कि गृह मंत्री हाेने के नाते सीआइडी मुझे आवश्‍यक ब्रीफ्रिंग करे।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: गर्व के पल: सुखोई की कमान, हरियाणा के जाबांज बेटे ने जीत लिया आसमान


यह भी पढ़ें: BJP अध्‍यक्ष नड्डा से मुलाकात के बाद भी नरम नहींं पड़े अनिल विज, CID मामले पर कड़े तेवर कायम


यह भी पढ़ें: इस शख्‍स ने दाग मिटाने के लिए 18 साल लड़ी लड़ाई, नौकरी संग हासिल किया सम्‍मान भी

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस