राज्य ब्यूरो, कोलकाता। Amit Shah Kolkata Rally. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की रविवार को कोलकाता में हुई सभा को लेकर राजनीति गरम है। तृणमूल सहित अन्य विपक्षी दल सांप्रदायिक भावना भड़काने और रैली के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा 'गोली मारो..' के नारे लगाए जाने को लेकर उन पर हमलावर है। दूसरी ओर, माकपा और कांग्रेस से जुड़े छात्र संगठन के सदस्यों ने कोलकाता के शहीद मीनार मैदान का गंगाजल से शुद्धिकरण किया है, जहां अमित शाह ने रैली की थी।

छात्रों के दल का दावा है कि कोलकाता का ऐतिहासिक शहीद मीनार मैदान भाजपा कार्यकर्ताओं की ओर से रैली के वक्त लगाए गए 'गोली मारो..' जैसे भड़काऊ नारों की वजह से दूषित हो गया था, लिहाजा इस मैदान का शुद्धिकरण किया गया है। उन्होंने दावा किया कि रैली के अगले दिन सोमवार को ही वाम दलों के छात्र संगठन एसएफआइ और कांग्रेस की छात्र शाखा छात्र परिषद ने शहीद मीनार के मंच को गंगाजल से धुला और सांप्रदायिक ताकतों को राज्य के सद्भाव को नहीं बिगाड़ने देने की शपथ ली। एक एसएफआइ नेता ने कहा कि हमने शुद्धिकरण के लिए पानी और साबुन का इस्तेमाल किया जबकि कांग्रेस छात्र परिषद के हमारे मित्रों ने गंगाजल का इस्तेमाल किया।

इस मौके पर कांग्रेस के छात्र नेता शुभंकर सरकार ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि हमनें एसएफआइ के साथ मिलकर संयुक्त रूप से मैदान का शुद्धिकरण किया है। उन्होंने कहा कि यह ऐतिहासिक मैदान पूर्व में कई राजनीतिक कार्यक्रमों का गवाह रहा है लेकिन इससे पहले कभी भी यहां इस तरह की सांप्रदायिक बातें और 'गोली मारो..' जैसे नारे नहीं सुने गए।

बता दें कि इस रैली को लेकर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पर करारा हमला बोला था। इस रैली में अमित शाह ने लोकसभा चुनाव परिणाम का जिक्र करते हुए दावा किया था कि बंगाल में अगली सरकार भाजपा की ही बनेगी।

यह भी पढ़ेंः 2021 में बंगाल में भाजपा बनाएगी दो तिहाई बहुमत की सरकार: अमित शाह

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस