जयपुर, जेएनएन। Rajasthan Assembly. राजस्थान विधानसभा का सत्र शुक्रवार से शुरू होगा। राज्यपाल कलराज मिश्र के अभिभाषण के साथ साल का पहला सत्र शुरू होगा। हालांकि सत्र के पहले दिन ही काफी हंगामा होने की संभावना है, क्योंकि सरकार सत्र में सीएए के खिलाफ संकल्प पारित कराने का प्रस्ताव लेकर आएगी। इसके साथ ही संसद और विधानसभा में अनुसूचित जाति और जनजाति का आरक्षण दस वर्ष बढ़ाने के लिए किए गए 126वें संविधान संशोधन का अनुमोदन भी किया जाएगा। कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दलों ने 24 व 25 जनवरी के लिए विधायकों को व्हिप जारी कर दिया है।

विधानसभा के बजट सत्र के पहले दिन की शुरुआत राज्यपाल के अभिभाषण से होगी। अभिभाषण के बाद विधानसभा व लोकसभा चुनावों में अनुसूचित जाति और जनजाति आरक्षण को 10 साल बढ़ाने के संकल्प को पारित किया जाएगा। उसके बाद 25 जनवरी को सीएए के खिलाफ प्रस्ताव लाने की तैयारी है। कांग्रेस विधयक दल के मुख्य सचेतक महेश जोषी ने दोनों दिन कांग्रेस विधायकों को पूरे समय सदन में मौजूद रहने के लिए व्हिप जारी किया है। व्हिप का उल्लंघन करने वाले विधायकों पर अनुशसनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

वहीं, प्रतिपक्षी भाजपा ने अपने विधायकों के लिए व्हिप जारी कियाा है। भाजपा विधायक दल की गुरुवार को हुई बैठक में व्हिप जारी करने का निर्णय किया गया। नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने विधायकों से कहा कि यदि सीएए मामले में मतदान की नौबत आती है तो विधायक पार्टी के निर्णय के अनुसार वोट करें। इसके साथ ही उन्होंने इस बात पर भी आपत्ति की कि सीएए का मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है, ऐसे में सरकार इस विषय पर कोई प्रस्ताव पारित नहीं कर सकती। उन्होने कहा कि सदन की बैठक के दौरान जनता से जुड़े सभी मुद्दों पर सरकार को घेरेंगे। इस सत्र में फरवरी में राज्य का बजट पेश किया जाएगा और कुछ महत्ववपूर्ण विधेयक भी पेश किए जाएंगे।

यह भी पढ़ेंः सीएम अशोक गहलोत बोले, मन के साथ काम की बात भी जरूरी

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस