नई दिल्ली, एएनआइ। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शनिवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि किसानों को काली दिवाली मनाने के लिए मजबूर किया जा रहा है क्योंकि खरीफ की फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) से औसतन 22.5 फीसद से कम पर बिक रही है। उन्होंने कहा कि किसानों का दोहरा शोषण रोका जाना चाहिए।

दिवाली से पहले एक बयान जारी कर सोनिया ने मोदी सरकार पर लागत से 50 फीसद अधिक न्यूनतम समर्थन मूल्य देने का वादा नहीं निभाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार साल दर साल कुछ बिचौलियों को फायदा पहुंचा रही है और किसानों के करोड़ों रुपये लूट रही है।

किसानों को 50 हजार करोड़ रुपये का होगा नुकसान: सोनिया गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि जिस तरह खरीफ फसलों को बेचा जा रहा है उससे किसानों को 50 हजार करोड़ रुपये का नुकसान होगा। जबकि सरकार का राजधर्म किसानों का शोषण रोकना है। उन्होंने कुछ खरीफ फसलों के नाम भी गिनाए जिनमें दालें, सूरजमुखी, ज्वार और बाजरा शामिल हैं।

सोनिया ने कहा, एक तरफ भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार ने खाद पर चार फीसद, कृषि उपकरणों पर 18 फीसद और कीटनाशकों पर 18 फीसद जीएसटी लगा दिया है तो दूसरी तरफ डीजल के दामों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। इससे किसानों पर दोहरी मार पड़ रही है।

हरियाणा में बदलाव में देरी से हुआ नुकसान : थरूर

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने स्वीकार किया है कि मई में हुए आम चुनावों में हार के बाद पार्टी लापरवाह हो गई थी जिसकी वजह से हरियाणा में राज्यस्तरीय बदलाव करने में देरी हुई। अगर यह छह महीने पहले हो गए होते तो हालिया चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन में सुधार हो सकता था।

यह भी पढ़ें: दिवाली पर दुर्गम इलाकों में तैनात सैनिकों से मिलने जा सकते हैं पीएम नरेंद्र मोदी

यह भी पढ़ें: खट्टर और फडणवीस के पीछे खड़े होकर पीएम मोदी- अमित शाह ने दिया बड़ा संदेश

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस