Move to Jagran APP

प्रज्वल रेवन्ना को अश्लील वीडियो मामले में कोर्ट से नहीं मिली राहत, 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

Prajwal Revanna प्रज्वल रेवन्ना को आज भी कोर्ट से राहत नहीं मिली। उनकी मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। बेंगलुरु कोर्ट ने आज उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इससे पहले उन्हें 10 दिनों के लिए पुलिस हिरासत में भेजा था। पुलिस हिरासत आज खत्म होने पर उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इससे उसकी मुश्किलें फिर बढ़ गई हैं।

By Jagran News Edited By: Sushil Kumar Published: Mon, 10 Jun 2024 04:26 PM (IST)Updated: Mon, 10 Jun 2024 04:26 PM (IST)
Prajwal Revanna: प्रज्वल रेवन्ना को कोर्ट से नहीं मिली राहत।

एएनआई, नई दिल्ली। अश्लील वीडियो मामले में फंसे जेडीएस के निलंबित सांसद प्रज्वल की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। उन्हें राहत मिलने की कोई संभावना नहीं दिख रही है। बेंगलुरु की 42वीं एसीएमएम कोर्ट ने सोमवार को उन्हें बड़ा झटका दिया है। कोर्ट ने प्रज्वल रेवन्ना को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

10 जून तक पुलिस हिरासत खत्म होने पर कोर्ट ने आज उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इससे पहले बेंगलुरु की 42वीं एसीएमएम कोर्ट ने प्रज्वल रेवन्ना को छह जून को चार दिन और पुलिस हिरासत में भेजने का आदेश दिया था। कोर्ट ने प्रज्वल रेवन्ना को गिरफ्तारी के बाद छह दिन के लिए एसआईटी हिरासत में भेजा था।

एसआईटी ने किया था गिरफ्तार

पुलिस हिरासत खत्म होने पर कोर्ट ने अब न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। यौन उत्पीड़न मामले के आरोपी प्रज्वल रेवन्ना हाल ही में जर्मनी से बेंगलुरु लौटे थे। मामले की जांच कर रही एसआईटी ने उन्हें रात को गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तारी के बाद उन्हें अगले दिन कोर्ट में पेश किया था। कोर्ट ने छह दिनों की पुलिस हिरासत का आदेश दिया था।

देश छोड़कर हो गए थे फरार

अश्लील वीडियो मामले में प्रज्वल रेवन्ना 26 अप्रैल को देश छोड़कर जर्मनी फरार हो गए थे। कर्नाटक के गृह मंत्री जी.परमेश्वरा ने कहा था कि उन्हें पता चला है कि रेवन्ना बेंगलुरु वापस लौट रहे हैं। उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट पहले ही जारी हो चुका है। इसलिए उन्हें एयरपोर्ट पर ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ गठन के बाद अभी तक नहीं बने कोई कैबिनेट मंत्री, राज्यमंत्री बनने वाले सातवें सांसद बने तोखन साहू, इस वजह से मोदी कैबिनेट में किया शामिल


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.