दमोह, जेएनएन। पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की कट्टर समर्थकों में शामिल मध्य प्रदेश की महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी मीडिया के एक सवाल से इतनी गुस्से में आ गईं कि उन्होंने मीडियाकर्मियों के माइक को अपने हाथ से हटाते हुए ये कह दिया कि चलो, हटाओ माइक।

गुस्से के पीछे का कारण ज्योतिरादित्य को प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ से बाहर होने का एक सवाल था। मंत्री इमरती देवी अल्प प्रवास पर रविवार शाम दमोह पहुंची थीं। मीडिया ने जब उनसे पूछा कि सुनने में आ रहा है कि कांग्रेस प्रदेश में कि सी आदिवासी चेहरे को अध्यक्ष रूप में लाना चाह रही है। इस पर वे गुस्साई और कहा ये कहां-कहां की बातें पूछ रहे हो, ये तो पुरानी बातें हो गई, कोई अच्छी बात पूछो। फिर से सवाल पूछने पर उन्होंने तीखे अंदाज में कहा कि सिंधिया क्यों नहीं चलेंगे, दिग्विजय क्यों नहीं चलेंगे, कमलनाथ क्यों नहीं चलेंगे, क्या ये अलग हैं। प्रदेश के सारे नेता एक हैं। फिर गुस्से में उन्होंने यह कहते हुए माइक हटाते हुए कहा, बस माइक हटा लो।

सिंधिया और मुख्यमंत्री कमलनाथ के बीच सियासी टकराव

बता दें कि मध्यप्रदेश कांग्रेस की सियासत में ज्योतिरादित्य सिंधिया और मुख्यमंत्री कमलनाथ के बीच सियासी टकराव देखने को मिल रहा है। दोनों नेताओं के समर्थक हालात को लेकर चिंतित हैं। शनिवार को सरकार व संगठन के बीच तालमेल के लिए बनी समन्वय समिति की पहली बैठक में दोनों नेताओं के बीच कड़वाहट की खबरे सामने आई हैं। इसमें तल्खी इस कदर दिखी कि सिंधिया बैठक को बीच में छोड़कर चले गए। बैठक खत्म होने के बाद जब कमलनाथ से सिंधिया के सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरने के ऐलान को लेकर सवाल किया गया, तो नाराजगी भरे अंदाज में उन्होंने इसका जबाब दिया और कहा कि 'तो उतर जाएं।

यह भी पढ़ें- मध्यप्रदेश में सियासी टकराव, सिंधिया से आर-पार के मूड में कमलनाथ

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस