नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने दावा किया है कि गुजरात पुलिस ने मोरबी ब्रिज हादसे पर ट्वीट करने के मामले में टीएमसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता साकेत गोखले को गिरफ्तार कर लिया है।

TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने दी जानकारी

TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने ट्विटर कर उनकी गिरफ्तारी की पुष्टि की है। सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा कि पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता साकेत गोखले को गुजरात पुलिस ने सोमवार रात जयपुर में उतरने के बाद गिरफ्तार किया है।

जयपुर से हुई साकेत गोखले की गिरफ्तारी

सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने साकेत गोखले की गिरफ्तारी को लेकर कई ट्वीट किए। उन्होंने बताया कि टीएमसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता साकेत गोखले को गुजरात पुलिस ने गिरफ्तार किया है। सोमवार को साकेत ने नई दिल्ली से जयपुर के लिए रात 9 बजे की फ्लाइट ली थी। जब वह जयपुर उतरे तो गुजरात पुलिस ने राजस्थान के हवाई अड्डे से ही गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद सारा सामान किया जब्त

सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने आगे बताया कि मंगलवार को आधी रात 2 बजे उसने अपनी मां को फोन किया और बताया कि पुलिस उसे अहमदाबाद लेकर जा रही है और वह आज दोपहर तक अहमदाबाद पहुंच जाएगा। सांसद के अनुसार, पुलिस ने उसे दो मिनट के लिए फोन कॉल करने दिया और फिर उसका फोन और उसका सारा सामान जब्त कर लिया। सांसद ने कहा मोरबी पुल हादसे पर साकेत के ट्वीट को लेकर अहमदाबाद साइबर सेल ने झूठा मामला दर्ज किया गया है। TMC और विपक्ष अब चुप नहीं रह सकता है। भाजपा राजनीतिक प्रतिशोध को दूसरे स्तर पर ले जा रही है।

क्यों हुई साकेत गोखले की गिरफ्तारी

दरअसल, साकेत गोखले ने मोरबी ब्रिज हादसे के बाद एक रिपोर्ट को ट्विटर पर साझा किया था। जिसमें उन्होंने पीएम मोदी के मोरबी ब्रिज हादसे वाली जगह पर जाने को लेकर सवाल उठाए थे। उन्होंने ट्वीट कर लिखा था कि आरटीआई से पता चलता है कि कुछ घंटों के लिए पीएम मोदी की मोरबी यात्रा पर 30 करोड़ रुपये की लागत आई है। इसमें से 5.5 करोड़ रुपये ‘वेलकम, इवेंट मैनेजमेंट और फोटोग्राफी’ के लिए थे। उन्होंने आगे लिखा कि 5 करोड़ में से प्रत्येक मृतकों को 4 लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी गई है। सिर्फ मोदी के कार्यक्रम प्रबंधन और पीआर की कीमत 135 लोगों के जीवन से अधिक है।

गुजरात की साइबर सेल ने दर्ज किया था केस

जिसके बाद गुजरात की साइबर सेल ने TMC प्रवक्ता साकेत गोखले के खिलाफ गलत अफवाह फैलाने का मामला दर्ज किया था। मोरबी पुल हादसे से संबंधित फर्जी खबर फैलाने के आरोप में टीएमसी के साकेत गोखले को गिरफ्तार किया गया है।

Morbi Bridge Collapse: 'कभी नहीं देखा ऐसा हादसा'... चश्मदीदों ने सुनाया खौफनाक मंजर, बताया क्या क्या हुआ

Morbi Bridge Collapse: मोरबी में पुल टूटने से हुई थी 135 लोगों की मौत, जानें हादसे के बाद अब तक क्या-क्या हुआ

Edited By: Mohd Faisal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट