जयपुर, एजेंसी। पिछले दिनों राजस्थान के जालोर जिले के सायला थाना इलाके में टीचर की पिटाई से एक दलित छात्र की मौत हो गई थी। दलित छात्र की पिटाई से हुई मौत के बाद राजस्थान की सियासत गरमा गई है। भाजपा ने राजस्थान सरकार पर कई तरह के आरोप लगाए हैं। इस बीच, राजस्थान कांग्रेस प्रमुख ने दलित छात्र के परिवार वालों को एक बड़ी वित्तीय राहत की घोषणा की है। मंगलवार को गोविंद सिंह डोटासरा ने मृतक दलित छात्र के परिवार को 20 लाख रुपये की वित्तीय सहायता की घोषणा की। उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार को पार्टी की ओर से यह राशि दी जाएगी।

पीटने वाले शिक्षक को किया गया गिरफ्तार

राजस्थान सरकार की ओर से मृतक बच्चे के परिजनों को पांच लाख रुपये मुआवजा दिये जाने की घोषणा की गई है। वहीं, दलित छात्र को पीटने वाले आरोपी शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया गया है।

शहर में निकाला गया कैंडल मार्च

वहीं, आज राजस्थान के जालोर के ग्राम सुराना में दलित समाज के मासूम छात्र की पीट-पीटकर हत्या करने के विरोध में लोगों ने शहर में कैंडल मार्च निकाला गया। साथ ही आरोपित को फांसी देने की मांग की गई।

इस घटना पर सीएम गहलोत ने दिए जांच के निर्देश

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस घटना की निंदा करने करते हुए जांच के निर्देश दिए हुए हैं। मुख्यमंत्री सहायता कोष से मृतक बच्चे के स्वजनों को पांच लाख की आर्थिक मदद भी दी गई है।

भाजपा ने राष्ट्रीय अनुसूचित आयोग से की शिकायत

दूसरी ओर, भाजपा ने इस मामले की शिकायत राष्ट्रीय अनुसूचित आयोग के अध्यक्ष विजय सांपला से की है। भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री तरुण चुग ने सांपला को पत्र लिखकर कहा कि मामले की जांच के लिए आयोग की एक कमेटी मृतक बच्चे के गांव में भेजी जानी चाहिए।

यह भी पढ़ें : Drugs Seize: मुंबई पुलिस ने गुजरात में ड्रग्स फैक्ट्री का किया भंडाफोड़, 1000 करोड़ से ज्यादा का नशीला पदार्थ जब्त

Edited By: Dhyanendra Singh Chauhan