मुंबई, एजेंसी। मुंबई पुलिस ने गुजरात की एक ड्रग्स फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। अधिकारियों ने मंगलवार को कहा कि 10 दिनों में एक और बड़ी सफलता हासिल हुई है। मुंबई पुलिस ने दक्षिण गुजरात के अंकलेश्वर में एक ड्रग्स फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है। 1,026 करोड़ रुपये का मेफेड्रोन (नशीला पदार्थ) जब्त किया गया है। इस दौरान एक व्यक्ति को भी मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

मुंबई पुलिस ने इसके पहले 29 मार्च को मुंबई के गोवंडी उपनगर, ठाणे में अंबरनाथ और पालघर में नालासोपारा के अलावा गुजरात के अंकलेश्वर में कई छापेमारी के साथ जांच शुरू की थी। मुंबई पुलिस द्वारा ड्रग्स की जब्ती 2,435 करोड़ रुपये तक पहुंच गई है।

इस मामले की अधिक जानकारी देते हुए एक अधिकारी ने कहा कि 13 अगस्त को हुई कार्रवाई में वर्ली यूनिट की एंटी नारकोटिक्स सेल ने 513 किलोग्राम मेफेड्रोन (नशीले पदार्थ) के साथ ही 812 किलोग्राम सफेद पाउडर और 397 किलोग्राम केमिकल जब्त किए हैं। इन्हें नशीले मादक दवाओं को तैयार करने के लिए इस्तेमाल किया गया था। पुलिस के अधिकारी ने बताया कि यह छापेमारी अंकलेश्वर के पनोली में जीआईडीसी परिसर में स्थित फ्रैक्ट्री में हुई है।

10 दिन पहले भी हुई थी छापेमारी

वहीं, इसके 10 दिन पहले गुजरात की सीमा से लगे पालघर जिले के नालासोपारा शहर से 1,403 करोड़ रुपये की ड्रग्स जब्त की गई थी। इस मामले में अब तक सात लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इसमें एक महिला और दो केमिकल एक्सपर्ट भी शामिल थे। इन दोनों ने ही कथित तौर पर ड्रग्स के निर्माण के लिए विभिन्न रसायनों का मिश्रण तैयार किया था।

4 अगस्त को एंटी नार्कोटिक्स सेल (ANC) ने नालासोपारा से दो ड्रग्स तस्करों सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया था। इस दौरान करीब 1403 करोड़ रुपये के 702 किलोग्राम का मेफेड्रोन (नशीला पदार्थ) जब्त किया था।

तीन महिला ड्रग्स तस्करों को भी किया गया था गिरफ्तार

29 मार्च को भी एंटी नार्कोटिक्स सेल (ANC) ने उत्तर-पूर्वी मुंबई के गोवंडी से एक महिला सहित तीन ड्रग्स तस्करों को गिरफ्तार किया था। एएनसी ने अंबरनाथ शहर के एक परिसर में छापा मारा था। इसमें 4.50 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के 3 किलोग्राम मेफेड्रोन की जब्त किया गया था। इन छह आरोपियों से लगातार हो रही पूछताछ ने एएनसी को ड्रग्स के और ठिकाने के बारे में जानकारी दी थी।

Edited By: Dhyanendra Singh Chauhan