जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। कांग्रेस की डगमगा चुकी सियासी बुनियाद को दुरूस्त करने के लिए भले ही पार्टी में जमीनी चेहरों को मौका देने की शिद्दत से जरूरत महसूस की जा रही हो मगर संगठन में नेता संतानों की भरमार कम होने का नाम नहीं ले रही। पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की पुत्री शर्मिष्ठा मुखर्जी और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार के बेटे अंशुल मीरा कुमार को कांग्रेस का राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाया जाना पार्टी के शीर्ष संगठन में नेता संतानों की सीधी इंट्री का ताजा उदाहरण है।

कांग्रेस मीडिया विभाग के प्रमुख रणदीप सुरजेवाला ने बयान जारी कर कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अंशुल मीरा कुमार और शर्मिष्ठा मुखर्जी को पार्टी का राष्ट्रीय प्रवक्ता नियुक्त किया है। राष्ट्रीय प्रवक्ता नियुक्त होने से पहले कांग्रेस संगठन ही नहीं पार्टी के राजनीतिक गलियारे में अंशुल की सियासी सक्रियता शायद ही कभी देखी गई हो। हालांकि शर्मिष्ठा मुखर्जी दिल्ली की राजनीति में पिछले कुछ सालों से काफी सक्रिय रही हैं। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस की प्रवक्ता रह चुकीं शर्मिष्ठा प्रदेश महिला कांग्रेस की अध्यक्ष भी हैं।

कांग्रेस की राष्ट्रीय मीडिया टीम में नेता संतानों में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा के बेटे दीपेंद्र हुड्डा और असम के पूर्व मुख्यमंत्री तरूण गोगोई के पुत्र गौरव गोगोई भी राष्ट्रीय प्रवक्ता है। पार्टी के पुराने दिग्गज रहे संतोष मोहन देव की पुत्र सुष्मिता देव भी पार्टी की प्रवक्ताओं में शामिल हैं। इसी तरह पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया पैनलिस्ट चेहरों में शामिल नामों में भी कई नेता पुत्र-पुत्री हैं। इनमें महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख के बेटे अमित देशमुख, वरिष्ठ नेता रहे वीएन गाडगिल के पुत्र अनंत गाडगिल और पूर्व गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे की पुत्री प्रणीति शिंदे का नाम शामिल है।

यह भी पढ़ेंः भाजपा शासन में पिछड़ों की हो रही अनदेखी : सुरजेवाला

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस